अखिलेश ने किया सबसे बड़ा ऐलान, 2019 में बीजेपी को लगेगा तगड़ा झटका

0

अखिलेश यादवलखनऊ। उत्‍तर प्रदेश में अखिलेश और माया के गठजोड़ के बाद गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट हारने वाली बीजेपी की मुश्किलें अब और भी ज्‍यादा बढ़ सकती हैं। दरअसल यूपी के पूर्व सीएम और सपा प्रमुख अखिलेश यादव के साथ बसपा प्रमुख मायावती ने इस गठबंधन को 2019 के लोकसभा चुनाव में भी बढ़ाने का फैसला पहले ही कर लिया है। वहीं अब अखिलेश यादव, मायावती को यूपी में कई अतिरिक्‍त सीटें भी देने को तैयार हो गए हैं।

अखिलेश यादव ने किया ऐलान

अखिलेश का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी फेडरल फ्रंट को आकार देने की रणनीति के तहत उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु और तेलंगाना का दौरा करने की तैयारी में हैं। 2019 के लोकसभा चुनावों को देखते हुए अखिलेश ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर कोई समस्या नहीं होगी।

Also Read : बाबा साहब की मूर्तियां तोड़ा जाना एक राजनैतिक साजिश है

अखिलेश ने स्पष्ट कर दिया है कि सपा-बसपा गठजोड़ को प्रभावी और मजबूत बनाने के लिए वह बसपा को कुछ अतिरिक्त सीटें देने के लिए भी तैयार हैं। बता दें कि लोकसभा की 80 सीटों के कारण भारत की चुनावी राजनीति में यूपी का महत्व सबसे ज्यादा है। साल 2014 के लोकसभा और विधानसभा चुनावों में देश के सबसे बड़े राज्य में बीजेपी को जबरदस्त सफलता मिली थी।

Also Read : प्रवीण तोगड़िया का आरोप रामजन्मस्थली पर बाबरी मस्जिद बनाने का चल रहा षड्यंत्र

वहीं उपचुनावों में जीत के बाद अखिलेश यादव और मायावती के राजनीतिक रिश्तों में भी गर्मजोशी आई है। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री का बयान इसकी पुष्टि करता है। अखिलेश ने कहा कि उनके शब्दों को जेहन में डाल लें… सपा-बसपा का यह गठजोड़ बीजेपी को न केवल उत्तर प्रदेश से बल्कि राष्ट्रीय राजनीति से भी बाहर कर देगा।

Also Read : SC/ST एक्ट में बदलाव को लेकर उग्र हुआ दलितों का प्रदर्शन, मेरठ में पुलिस चौकी फूंकी, हाई अलर्ट पर यूपी

वहीं दूसरी तरफ लोकसभा चुनाव से पहले विरोधी दलों को एक मंच पर लाने की कोशिश में जुटीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आने वाले कुछ दिनो में उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु और तेलंगाना का भी दौरा करेंगी। ‘इकोनोमिक टाइम्स’ के अनुसार, ममता फेडरल फ्रंट को आकार देने के लिए सपा प्रमुख अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती से मुलाकात कर चुनाव पूर्व गठबंधन पर चर्चा करेंगी। चेन्नई यात्रा के दौरान वह द्रमुक प्रमुख एम. करुणानिधि से वार्ता करेंगी। ममता हैदराबाद भी जाएंगी जहां वह तेलंगाना के मुख्यमंत्री और टीआरएस प्रमुख के. चंद्रशेखर राव से मुलाकात करेंगी।

loading...
शेयर करें