आखिर कब तक ‘औरत’ ही देती रहेगी अग्निपरीक्षा….

0

हर्षिता शुक्ला 

आपने गाना तो सुना ही होगा कि जब सैयां भये कोतवाल तो डर काहेगा का यही हाल है हमारे यूपी का. जब सत्ता अपनी, पार्टी अपनी, सरकारी मिशनरी अपनी और तो और पुलिस भी अपनी तो किसी के माई के लाल में हिम्मत है जो बाल भी बांका कर सके. जी हां, उन्नाव रेप केस ने प्रदेश में ही नहीं देश में हंगामा मचा रखा है. आरोप सत्ताधारी पार्टी बीजेपी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर लगा है. लेकिन अपने रुसूख के बल पर नेता जी अभी भी आजाद घूम रहे हैं.

हद तो तब हो गई जब दर-दर भटक रही पीडिता को अपने इंसाफ के लिए खुद को आग में झोकना पड़ा. तब जाकर इस अंधे-बहरे सिस्टम में थोड़ी जान आई है. लेकिन इस घटना ने एक बार फिर साबित कर दिया कि हर युग में नारी को अपनी सच्च्याई साबित करने के लिए अग्निपरीक्षा देनी पड़ती है. एक वक़्त वो था जब मर्यादापुरुषोत्तम श्री राम ने अपनी पत्नी सीता को अपने सत्तित्व को साबित करने के लिए अग्निपरीक्षा देने को कहा था. एक आज का दौरा है सदियां बीती, युग बीता लेकिन आज भी औरत को ही अपनी सच्चाई साबित करने के लिए अग्नि परीक्षा देनी पड़ रही है.

हम बात करते हैं समानता की, महिलाओं के हक की इंसाफ की लेकिन क्या हो रहा है. आज भी सीता को अपनी सच्चाई सुनाने के लिए आग में कूदना पड़ता है. अपनी वेदना को दिखाने के लिए अपने दर्द का एहसास दिलाने के लिए उसे खुद को जलाना पड़ता है. आखिर क्यों जब तक एक औरत आग में नहीं जलती तब तक उसे सच नहीं माना जाता, उसकी बात नहीं सुनी जाती ? आखिर क्यों आग में ही जलकर इस अंधे-बहरे गूंगे समाज को झकझोरना पड़ता है?

क्यों बड़े-बड़े मंचो पर नारी शक्ति का बखान कर तालियाँ बटोरने वाले ठेकेदार क्यों उसकी दुःख और वेदना को समझ नहीं पाते. क्यों हर पल उसकी अंतरात्मा को रौदा जाता है. क्यों रेप के बाद हर पल उसका रेप किया जाता है. क्यों उसकी हर एक रूह को कुचला जाता है. क्यों उससे हर पल सिसिकते रहना पड़ता है..क्यों हर दर्द को खुद में सहते रहना पड़ता है? क्यों खामोश होकर अपमान का जहर पीना पड़ता? क्यों हर रोज अपने चरित्र को तार-तार होते हुए महसूस करना पड़ता है ?

सिर्फ इसलिए क्योंकि वो एक औरत है और औरत को ही अग्नि परीक्षा देनी होती है. एक बार खुद के गिरेबान में झांकिए और जवाब तलाश कीजिये..क्योंकि आपकी मां, बहन और बेटी भी एक औरत है कहीं उसे भी ये अग्निपरीक्षा न देनी पड़े?

loading...
शेयर करें