इलाहाबाद : वकील की हत्या के बाद साथियों का प्रदर्शन, SSP हटाए गए

0

लखनऊ| उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में हुए वकील अधिवक्ता राजेश श्रीवास्तव की हत्या के विरोध में शुक्रवार को वकीलों ने हड़ताल किया। इस दौरान उन्होंने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। वकीलों के विरोध को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं।

राजेश श्रीवास्तव

इस दौरान राज्य सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। वहीँ वकीलों की सुरक्षा को लेकर सीएम योगी को ख़त लिखा। साथी वकीलों की मांग है कि मृतक के परिजनों को 50 लाख की सहायता राशि के साथ सरकारी नौकरी दी जाए।

इसके साथ घटना में शामिल अपराधियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की। अधिवक्ताओं ने नारेबाजी करते हुए नई बिल्डिंग के सामने प्रदर्शन किया। साथ ही उन्होंने कार्य का वहिष्कार भी किया। एक दिन पूर्व भी दीवानी में किसी कारण कार्य नहीं हो पाया था।

इस बीच इलाहाबाद में वकील की हत्या से नाराज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर डीजीपी ने एसएसपी आकाश कुलहरि को हटा दिया है। उन्हें डीजीपी कार्यालय से संबद्घ किया गया है। आगरा में तैनात एसपी, रेलवे नितिन तिवारी को एसएसपी इलाहाबाद की कमान सौंपी गई है।

आपको बता दें कि कोर्ट जाते वक़्त अज्ञात लोगों ने राजेश श्रीवास्तव को गोली मार दी थी। वहां मौजूद लोगों ने उन्हें अस्पताल पहुँचाया जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस हमलावरों की तलाश कर रही है। वहीँ वकील साथियों ने शव को सड़क पर रख जाम लगाया, तोड़फोड़ की और एक बोलेरो और बस को आग के हवाले कर दिया। फिलहाल हालात पर काबू करने के लिए भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात किया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को ही मृत अधिवक्ता के परिजनों को 20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की थी।

loading...
शेयर करें