UP के बेटे ने बढ़ाया प्रदेश का मान, ISRO की परीक्षा पास कर बना साइंटिस्ट

0

लखनऊ। बाराबंकी के एक गरीब किसान के बेटे ने इसरो की परीक्षा पर पास कर प्रदेश का मान बढ़ाया है। बाराबंकी के आशीष ने इसरो की परीक्षा पास कर यह साबित कर दिया है कि मेहनत करने वालों की हार नहीं होती। आशीष इस कामयाबी को अपने पिता के मेहनत का रिटर्न गिफ्ट बताता है।

इसरो की परीक्षा

इसरो की परीक्षा पास करने वाले आशीष के आदर्श डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम

खबरों के मुताबिक, आशीष ने भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की कठिन परीक्षा पास कर प्रथम श्रेणी का पद हासिल किया है। आशीष का परिवार अपने बेटे की इस कामयाबी के लिए उसकी मेहनत को बड़ी वजह बता रहा है। उनके मुताबिक, इस खुशी ने उनके जिंदगी भर की मुश्किलों को दूर कर दिया है। आशीष डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम को अपना आदर्श मानते हैं।

आशीष श्रीवास्तव के पिता राम नगर इलाके में एक छोटी सी दुकान चलाते हैं। आमदनी सीमित होने की वजह से उनके परिवार का गुजारा बड़ी मुश्किलों से चल पाता है। आशीष के पिता चंद्रमोहन श्रीवास्तव ने उसे बड़ी मुश्किलों का सामना कर पढ़ाया और आज वह साइंटिस्ट बनकर अपने पिता का नाम रोशन कर रहा है।

loading...
शेयर करें