एक और ढोंगी बाबा की काली करतूत आई सामने, युवती ने लगाया दुष्कर्म का आरोप

0

सहारनपुर। देश में अध्यात्म का दिखावा करने वाले कई ढोंगी बाबाओं की काली करतूत सामने आ चुकी है। आसाराम बापू ,राम रहीम, वीरेंद्र दीक्षित, परमानंद जैसे बाबाओं के बाद अब एक और बाबा पर गैंगरेप का आरोप लगा है। यह मामला यूपी के फतेहपुर जिले से सामने आई है। यहां एक बाबा पर न सिर्फ युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने का आरोप लगा है बल्कि इस मामले में यूपी पुलिस की उदासीनता भी सामने आई है।

दुष्कर्म

यह मामला चिलकाना थानाक्षेत्र का है जहां रहने वाली एक युवती को पहले बहाने से कार में लिफ्ट देकर पहले एक घर में ले जाया गया, फिर वहां मौजूद बाबा ने साथी के साथ मिलकर युवती को अपनी हवस का शिकार बनाया। बताया जा रहा है कि इस मामले में यूपी पुलिस की उदासीनता भी सामने आई। पीड़िता ने जब इस मामले की शिकायत पुलिस चौकी में कराने के लिए गई, तो पुलिस मामला दर्ज करने के बजाय उसे टरकाती  नजर आई, बाद में एसएसपी तक मामला पहुंचने के बाद मामला दर्ज किया गया। लेकिन अभी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार, पीड़िता ने पुलिस चौकी में शिकायत दर्ज करवाते हुए बताया कि बीते 7 अप्रैल को वह एक प्रशिक्षण केंद्र में दाखिले के लिए फार्म जमा करने जा रही थी। इसी बीच रास्ते में उसे आल्हणपुर निवासी सलीम ने यह कहते हुए अपनी कार में लिफ्ट दी कि वह भी वहीं जा रहा है। इसके बाद वह उसे प्रशिक्षण केंद्र ले जाने के बजाय अपने एक परिचित के घर ले गया।

पीड़िता ने बताया कि वहां अजात आश्रम पठेड़ में रहने वाला बाबा रामेश्वरानंद भी पहले से मौजूद था। इसके बाद दोनों ने उसके साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। इसके बाद पता चलने पर वहां कुछ ग्रामीण भी पहुंच गए। लेकिन, इसी बीच मौका पाते ही बाबा और सलीम मौके से फरार हो गए। अपने साथ हुई इस दरिंदगी की जानकारी देने जब वह पुलिस चौकी पहुंची तो पुलिसवालों ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की बात कहते हुए उससे कोरे कागज पर हस्ताक्षर करा लिए। लेकिन, एक हफ्ते तक कोई कार्रवाई नहीं की।

युवती ने आरोप लगाया कि अजात आश्रम, पठेड़ निवासी बाबा महात्मा रामेश्वरानंद वहां पहले से बैठा था। दोनों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। पता चलने पर मोहल्ले वालों ने शोर मचाया तो आरोपित वहां से चले गए। इसके बाद युवती ने पुलिस चौकी पहुंचकर आपबीती सुनाई। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन देकर कोरे कागज पर युवती के हस्ताक्षर करा लिए।

कई दिन तक कार्रवाई नहीं हुई तो पीड़िता ने परिजनों को पूरी घटना बताई। इसके बाद पीड़ित परिवार ने शनिवार को एसएसपी से मिलकर पूरा मामला बताया। एसएसपी के निर्देश पर बाबा सहित दोनों आरोपितों के विरुद्ध सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया गया।

loading...
शेयर करें