किसानों ने ली भूमि समाधि, कईयों की हालत बिगड़ी

0

जयपुर। अपनी जमीनों को दूसरे हाथों में देने के खिलाफ  नींदड गांव के किसानों ने भूमि समाधि ले ली। किसानों का यह सत्‍यग्रह दो दिन पहले से चल रहा है। लेकिन जब सात किसानों की हालत बिगड़ी तो शासन कि नजर इन तक पहुंची है। बता दें की 22 किसानों ने  गांव के में गड्ढे खोद कर उसमें बैठ गए है। जिनमें महिलाएं भी शामिल हैं। किसानों  का कहना है कि अगर सरकार ने हमारी बात नहीं सुनी तो इन्‍हीं गढ्ढों में अपनी जान देदेंगे।

इस गांव की 1350 बीघा जमीन सरकार ने अधिगृहित कर ली है। जिसमें सरकार आवासीय योजना बनाना चाहती है। इसके लिए प्रस्ताव भी पारित कर दिया है। वहीं किसानों का कहना है कि, जमीन लेकर आवासीय योजना बनाना उचित नहीं है। इसलिए हम अपनी जमीन बचाने के लिए कुछ भी करेंगे। अगर बात जान देने की भी आई तो हम लोग पीछे नहीं हटेंगे।

यह भी पढ़े- लव जेहाद का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, आतंकवादी के डर की लड़ाई लड़ रहा हिंदू बाप

वहीं करीब पिछले 7 सालों से आवासीय योजना के चलते अपनी जमीनों को खोने के डर के बीच किसान जी रहे है। इसलिए किसानों ने अपनी जमीन को बचाने के लिए इस आंदोलन को अपनाया है। लेकिन न ही सरकार के मंत्री और न ही मुख्‍मंत्री उनकी बातों को सुन रहे है।

loading...
शेयर करें

आपकी राय