कोर्ट ने उमर अब्दुल्ला को लगाई फटकार, कहा- आपके पास धन की कमी नहीं है, बीवी को देना होगा गुजारा भत्ता

0

नई दिल्ली। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट स्थित फैमिली कोर्ट ने जम्मू और कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला को कड़ी फटकार लगाई है। कोर्ट ने उमर से कहा है कि उन्हें अपनी पत्नी को गुजारा भत्ता देने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि आपको बीवी-बच्चों के भरण-पोषण के लिए पैसे देने ही पड़ेंगे। आप अपनी जिम्मेदारी और जवाबदेही से नहीं भाग सकते।

उमर अब्दुल्ला

अदालत ने कहा कि बीवी को गुजारा भत्ता देना सामाजिक न्याय मापने का एक पैमाना है। ऐसे मामलों में सबसे ज्यादा शिकार बच्चे होते हैं। पत्नी के शिक्षित होने पर भी उसे गुजारा-भत्ता मिलने के अधिकार से वंचित नहीं किया जा सकता। पति का यह कानूनी दायित्व है कि वह पत्नी और बच्चों को गुजारा भत्ता दे। कोर्ट ने फैसला सुनाया कि उमर अब्दुल्ला पत्नी पायल को हर महीने 75000 रुपये और बेटे को बालिग होने तक हर महीने 25000 रुपये देंगे।

उमर अब्दुल्ला की वकील मालविका राजकोटिया ने कोर्ट के अंतरिम आदेश पर किसी टिप्पणी से इंकार कर दिया। हालांकि, उन्होंने कोर्ट में यह तर्क दिया था कि पिछले छह साल से पायल अपना भरण-पोषण खुद ही कर रही हैं और उन्होंने तलाक की याचिका में भी गुजारा भत्ता के लिए जोर नहीं दिया था। इस पर पायल के वकील जयंत सूद ने कोर्ट से कहा कि पायल और उनके बेटे को 7, अकबर रोड आवास से बाहर कर दिया गया है, इसलिए उन्हें अंतरिम गुजारा भत्ते की जरूरत है।

 

loading...
शेयर करें