हीरे की अंगूठी चुराने वाला शख्स निकला करोड़पति, सिर्फ इस वजह से करता है चोरी

0

नई दिल्ली: कहते हैं दो चीजें शौक और जरूरत एक व्यक्ति को चोर बना देती है। कई बार लोगों में चोरी की लत भी होती है जिसकी वजह से वह न चाह कर भी चोरी की घटना को अंजाम दे देता है। ऐसा ही एक चोर नोएडा पुलिस के हत्थे चढ़ा है, जिसने बीते महीने एक हीरे की अंगूठी की चोरी की थी। इस मामले में चौंकाने वाली बात यह है कि जो शख्स चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है, वह करोड़पति है। दिल्ली में इस चोर की तीन आलिशान कोठियां हैं। इसके अलावा कई लग्जरी गाड़ियां भी हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, नोएडा में एक हीरा व्यापारी की दुकान से अप्रैल में चोरी हुई हीरे की अंगूठी का मामला सुलझाते हुए पुलिस ने गोपाल बंसल नाम के एक अधेड़ व्यक्ति को गिरफ्तार किया। लेकिन जब पुलिस को गोपाल की संपत्ति के बारे में पता चला तो पुलिस के भी होश उड़ गए। दिल्ली के प्रीत विहार में रहने वाला यह चोर 8 करोड़ की संपत्ति का मालिक निकला। जो प्रॉपर्टी का कारोबार करता है।

पुलिस पूछताछ में उसने बताया कि 19 अप्रैल को वह ग्रेटर नोएडा गया था। जहां एक सर्राफा की दुकान से उसने अंगूठी और पायल चोरी की थी।

हीरे की अंगूठी की चोरी के इस मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि यह करोडपति चोर पहले भी दिल्ली स्थित एक सर्राफा की दुकान से चोरी कर चुका है। बंसल अपनी लग्जरी गाड़ी से घूमते हुए टारगेट चुनता, फिर चांदी का सामान खरीदते हुए हीरे या सोने की ज्वैलरी चुरा लेता।

ग्रेटर नोएडा में रहने वाली महिला 19 अप्रैल की शाम 5 बजे जगत फार्म स्थित स्वर्णश्री ज्वैलरी शॉप में आई थी। उन्होंने अपनी तीन लाख की हीरे की अंगूठी सफाई करने के लिए शॉप मालिक दीपक मंडल को दी थी। इसे देकर महिला चली गईं और दीपक ने उसे पास रखी ट्रे में रख दिया। इस दौरान गोपाल दुकान पर मौजूद था। उसने एक पायल खरीदी। जिसकी कीमत 4900 रुपए थे। फिर वह रेट कम करने के लिए कहने लगा, बाद में वह 4700 रुपए देखकर चांदी की पायल के थैली को अंगूठी पर रखकर उठा ली।

बाद में जब शॉप मालिक ने अंगूठी नहीं दिखी तो उन्होंने सीसीटीवी फुटेज चेक किया, जिसमें हीरे की अंगूठी का चोर गोपाल निकला। गोपाल बंसल को मुंह का कैंसर है, इसलिए वह मास्क पहन आसानी से पहचान छुपा लेता था। लेकिन 19 अप्रैल को चोरी करते समय उसके चेहरे से मास्क हटा हुआ था। जिसके बाद पुलिस को उस पकड़ने में आसानी हो गई। बताया जा रहा है कि वह कई और दुकानों को भी अपना टारगेट बना चुका है लेकिन मास्क के चलते उसकी पहचान नहीं हो सकी।

loading...
शेयर करें