इस Christmas देश के इन टॉप 10 चर्च जरूर जाएं

0
टॉप 10 चर्च
Se Cathedral at Old Goa: भारत का सबसे बड़ा चर्च गोवा में है। इसकी लंबाई 250 मीटर और चौड़ाई 181 फुट है। इस चर्च का कंस्ट्रक्शन 1562 में शुरू हुआ और 1619 में कंप्लीट हुआ। इस चर्च की एक और खास बात ये है कि यहां कि बेल्सं दुनिया की सबसे अच्छी आवाज़ वाली और सबसे बड़ी हैं। इसलिए इसे गोल्डन बेल्से भी कहा जाता है।

 

टॉप 10 चर्च
Parumala Church in Kerala: गुम्बद के आकार का ये चर्च केरल के मनार में स्थित है। गोल आकार के इस चर्च 39 diameter में बना हुआ है। एक वक्त पर लगभग 2000 लोग इसमें प्रार्थना कर सकते हैं। इस चर्च की मान्यता इतनी है कि देश भर से लोग यहां आते हैं।

 

टॉप 10 चर्च
Malayatoor Church: ये चर्च केरल की पहाड़ी पर स्थित है। भक्त मौसम की परवाह किए बिना इस चर्च में आते हैं। ईसामसीह के प्रचारक सेंट थॉमस ने ईसामसीह के सुविचारों का प्रचार करने के उद्देश्य से इस पहाड़ी पर अपने कदम रखे थे। यहां कई नक्काशियां और पेंटिंग्स हैं जिसमें मालाय्त्तूर चर्च की दीवारों पर ईसा मसीह के पाँच हर्षित रहस्य देखे जा सकते हैं।

 

टॉप 10 चर्च
Malayatoor Church: ये चर्च केरल की पहाड़ी पर स्थित है। भक्त मौसम की परवाह किए बिना इस चर्च में आते हैं। ईसामसीह के प्रचारक सेंट थॉमस ने ईसामसीह के सुविचारों का प्रचार करने के उद्देश्य से इस पहाड़ी पर अपने कदम रखे थे। यहां कई नक्काशियां और पेंटिंग्स हैं जिसमें मालाय्त्तूर चर्च की दीवारों पर ईसा मसीह के पाँच हर्षित रहस्य देखे जा सकते हैं।

 

टॉप 10 चर्च
Velankanni Church: इस चर्च को ‘बासिलिका ऑफ़ आवर लेडी ऑफ़ गुड हेल्थ’ के नाम से जाना जाता है। सोलहवीं शताब्दी के मध्य में इस चर्च का निर्माण एक झोपड़ी की तरह किया गया था। स्थल सुबह पांच बजे से लेकर शाम को नौ बजे तक खुला रहता है। आजकल वेलंकन्नी चर्च को ‘पूर्व का लौर्देस’ कहा जाता है। इस चर्च में सितंबर में होने वाली फीस्ट में और क्रिसमस के दौरान बड़ी संख्या में तीर्थयात्री आते हैं।

 

टॉप 10 चर्च
Santa Cruz Basilica: यह कैथेड्रल फोर्ट कोच्चि में स्थित है और भारत के प्रथम चर्च में से एक है। इसका स्थान देश के मौजूदा आठ बेसीलिकाओं में है। यह उन बचाई गई इमारतों में से एक थी जिसे उस समय नष्ट होने से बचाया गया जब डच आक्रमणकारी कैथोलिक इमारतों को नष्ट कर रहे थे। इस इमारत में भित्ति चित्र और कैनवास पेंटिंग हैं जो ईसामसीह के जन्म और मृत्यु की कहानी बताते हैं।

 

टॉप 10 चर्च
Vallarpadam Church: इस चर्च का निर्माण 1524 में कुछ पुर्तगाली मिशनरियों द्वारा किया गया था। हालांकि, 1676 में एक भारी बाढ़ ने इस चर्च को नष्ट कर दिया है, और तब उस समय एक ही वर्ष में पुर्तगाली ने चर्च में वर्जिन मैरी की तस्वीर बनवाई और उसे स्थापित किया। वर्तमान में ये चर्च ईसाईयों का एक प्रमुख तीर्थ स्थल है जिसे 1884 में 13 वें पोप द्वारा एक विशेष चर्च का दर्जा दिया गया है। यहां के लोगों द्वारा ये माना जाता है कि मदर मैरी प्राकृतिक आपदा से उनकी रक्षा करती हैं। यहाँ हर साल 24 सितंबर को एक विशाल दावत का आयोजन किया जाता है जिसमें भारत के अलावा दूसरे देशों से भी लोग आकर मदर मैरी का आशीर्वाद प्राप्त करते हैं।

 

टॉप 10 चर्च
St. Francis Church: सेंट फ्रांसिस चर्च का निर्माण 1894 में हुआ था जिसकी पहल डलहौजी के पर्यटन स्थलों द्वारा ही की गई थी। इस चर्च की वास्तुिकला इंग्लैंड के प्रसिद्ध चर्च से मेल खाती हुई बनाई गई थी। चर्च में कांच और पत्थर का सुंदर काम किया गया है जिसकी ओर पर्यटकों का ध्यान अपने आप चला जाता है। हर रविवार को चर्च में एक आयोजन मनाया जाता है जिसमें काफी जनता एकत्र होती है और भाग लेती है।

 

 

टॉप 10 चर्च
Kadamattom Church: इस चर्च की स्थापना 9वीं सेन्चुरी में हुई थी। इस चर्च का नाम एक प्रीस्ट ‘कदमाट्टम’ के नाम पर रखा गया है, जो सुपरनैचिरल पावर के लिए जाने जाते थे। साथ ही ये चर्च अपने पुराने परशियन क्रॉस के लिए भी जाना जाता है।

 

टॉप 10 चर्च
The Reis Magos Church in Goa: रिस मगोस चर्च को बरदेज़ जिले का पहला चर्च माना जाता है। रिस मगोस चर्च का निर्माण 1555 में हुआ और यह चर्च सेंट जेरोम को समर्पित है। यह चर्च एक प्राचीन मंदिर पर बना है जिसके सबूत यहाँ की नक्काशियों और शिलालेखों में मिलते हैं जिसमें एक बैठे हुए शेर की मूर्ति शामिल है जो सामान्यतः हिंदू मंदिरों में पाई जाती है।

 

loading...
शेयर करें

आपकी राय