थाना प्रभारी और हिस्ट्रीशीटर की बातचीत का ऑडियो वायरल, बीजेपी वालों से सेटलमेंट कर लो वरना…

0

झांसी। यूपी में एनकाउंटर के नाम पर चल रहे खेल का पर्दाफाश हो गया है। सूबे में इस समय बीजेपी की सरकार है। ऐसे में पुलिस गुंड़ों को बचने के लिए भाजपा नेताओं से सेटलमेंट करने की सलाह दे रही है। झांसी के मऊरानीपुर थाना प्रभारी सुनीत कुमार और हिस्ट्रीशीटर लेखराज के बीच टेलीफोन पर बातचीत का एक ऑडियो वायरल होने से इन दिनों हड़कंप मचा हुआ है। इस ऑडियो में थाना प्रभारी हिस्ट्रीशीटर से कह रहा है कि अगर एनकाउंटर से बचना चाहते हो तो याद रखो कि प्रदेश में इस वक्त किसकी सरकार है।

कुछ दिनों पहले लेखराज व पुलिस के बीच हुई थी मुठभेड़
कुछ दिनों पहले झांसी में हिस्ट्रीशीटर लेखराज व पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई थी। इस दौरान लेखराज अपने बेटों व साथियों समेत पुलिस को चकमा देकर भागने में कामयाब रहा था। इस मुठभेड़ में करीब आधे घंटे तक फायरिंग हुई थी। इस घटना के बाद थाना प्रभारी व हिस्ट्रीशीटर के बीच बातचीत का यह ऑडियो वायरल हुआ है।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक वायरल ऑडियो में लेखराज थानेदार से उसका एंनकाउंटर न करने को लेकर मदद मांगते हुए सुना जा सकता है। इस पर कोतवाल साहब उससे कह रहे हैं कि भाजपा जिलाध्यक्ष संजय दुबे और बबीना विधायक राजीव सिंह पारीछा को समझ लो, वरना कुछ भी हो सकता है। ऑडियो वायरल होने के बाद पुलिस महकमा हरकत में आ गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार सिंह कोतवाल सुनीत कुमार को निलंबित कर दिया है। इसके बाद उन पर न्यायिक जांच शुरु किए जाने की संभावना है।

इस तरह का ऑडियो वायरल होने से सूबे में खाकी व गुंडों के बीच सांठगांठ का पर्दाफाश हुआ है। प्रदेश में हो रहे एनकाउंटर कितन सच्चे हैं व कितने फर्जी हैं इस पर भी फिलहाल प्रश्नचिन्ह लगा हुआ है। सबसे ज्याद चिंताजनक बात तो यह है कि क्या अपराधी एनकाउंटर से बचने के लिए सरकार में बैठे नेताओं का सहारा ले रहे हैं। क्या उन्हें वहां से मदद मिल रही है। वायरल हुए इस ऑडियो ने पुलिस, अपराध व राजनीति के गठजोड़ को लेकर एक नया मुद्दा छेड़ दिया है।

loading...
शेयर करें