देहरादून हत्याकांड का खुलासा: बेरहम मां ने इस वजह से अपनी बेटी को मारा था

0

देहरादून। देहरादून में 21 वर्षीय प्राप्ति सिंह की बेहरमी से हत्या करने के मामले में आरोपी सौतेली मां मीनू कौर को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। अदालत में आरोपी ने बताया कि सौतेली बेटी उसकी इज्जत नहीं करती थी, इसलिए उसे मार डाला।

हालांकि पुलिस अभी भी आरोपी मां के इस बयान को झुठला रही है, पुलिस हत्या की सटीक वजह जानने में जुटी हुई है। पुलिस की जांच दो एंगल पर चल रही है। पहली वजह ये जो आरोपी मां ने पुलिस को बताया कि लड़की उसकी इज्जत नहीं करती थी और दूसरी ये कि मृतक प्राप्ति सिंह के नाम करोड़ों की प्रॉपर्टी थी। सौतेली मां का मकसद प्रॉपर्टी पर कब्ज़ा ज़माना था।

पुलिस जांच में खुलासा हुआ कि सौतेली मां और बेटी में हमेशा से लड़ाई झगड़े होते रहते थे। प्राप्ति के पिता मरने से पहले पूरी जायदाद प्राप्ति के नाम कर गये थे। प्राप्ति के पिता की मौत के बाद मां-बेटी में यह तल्खी और भी बढ़ गई, क्योंकि पिता अपनी संपत्ति को पूरी तरह बेटी के नाम कर गए थे। इसके बाद तो आए दिन झगड़े होते रहे।

पुलिस उनकी और संपत्तियों की तलाश कर रही है। पुलिस का कहना है कि मीनू कौर ने प्राप्ति को हमेशा से ही सौतेली बेटी के तौर पर पाला। परिवार के लोग कहते हैं कि प्राप्ति को लेकर पहले पति-पत्नी में भी झगड़ा होता था। उधर, मृतका प्राप्ति सिंह की बुआ तृप्ति सखूजा ने शनिवार को नगर कोतवाली पहुंचकर अपनी भाभी यानी हत्यारोपी मीनू कौर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है।

देहरादून कोतवाली के इंस्पेक्टर बीबीडी जुयाल ने बताया कि आरोपी महिला का कहना है कि प्राप्ति उसे इज्जत नहीं देती थी। जिसके चलते वे मानसिक मौर पर परेशान हो गई थी। यही वजह थी कि उसकी हत्या कर दी। पता चला कि किराये की दुकान से प्रतिमाह करीब 30-35 हजार रुपये मिलता था।

loading...
शेयर करें