बीजेपी विधायक ने बाल विवाह का किया समर्थन, बोले- जल्दी शादी करने से नहीं होगा ‘लव-जिहाद’

0

भोपाल। मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के एक विधायक गोपाल परमार ने लड़कियों की शादी की उम्र को लेकर कुछ ऐसा बोल दिया जिसके बाद विवाद शुरु हो गया। विधायक ने बयान दिया है कि सरकार ने जब से लड़कियों की शादी का 18 साल का नियम बनाया है, लड़कियां घर से भाग कर शादी करने लगी है और देश में लव जेहाद शुरू हो गया है। विधायक गोपाल परमार ने 18 साल में लड़कियों की शादी को बीमारी बताया है।

गोपाल परमार

एक सरकारी फंक्शन में पहुंचे परमार ने कहा, “पहले शादियां 18 (लड़की) और 21 (लड़के) साल का होने से पहले ही हो जाती थीं। घर के बुजुर्ग बाल अवस्था में बच्चों के रिश्ते पक्के कर देते थे। इस वजह से वे कभी किसी और के बारे में सोचते तक नहीं थे। आज के समय में लड़का-लड़की कोचिंग क्लास में मिलते हैं और लव जिहाद जैसी बुराइयों का शिकार हो जाते हैं।”

गोपाल परमार ने आगे कहा, एक समय था जब शादी होने के बाद ही दूल्हा-दुल्हन एकदूसरे की शक्ल देखते थे। वो शादियां लंबे समय तक टिकती थीं। आज तलाक होना आम हो गया है।”

विधायक यहीं नहीं रुके। उन्होंने बच्चों की तुलना मवेशियों से भी कर डाली। उन्होंने कहा, “एक बार शादी पक्की हो जाती है तो बच्चे गाय-बकरी बन जाते हैं। उन्हें पता होता है कि शाम को कहां लौटकर आना है। बेटी सबसे ज्यादा मां की बात मानती है। मां को सब बात मालूम होती है कि बेटी क्या कर रही है क्या नहीं कर रही है। इसी वजह से सब माताओं बहनों से मेरा आग्रह है कि लव जेहाद के बुखार से सतर्कता बतरने का काम हम सबका है।”

 

loading...
शेयर करें