बड़ा खुलासा: दाऊद को बचाने में जुटी है पकिस्तान, बना रखा है सेफ हाउस

0

नई दिल्ली। दाऊद पर सिकंजा कसने की कवायद में भारत को पिछले सप्ताह बड़ी कामयाबी मिली। 1993 मुंबई ब्लास्ट में दाऊद इब्राहिम के साथी फारुख टकला को दुबई में गिरफ्तार कर भारत लाया गया। मुंबई में टाडा कोर्ट में उसकी पेशी हुई, जहां कोर्ट ने उसे 19 मार्च तक के लिए पुलिस कस्टडी में भेज दिया। टकला के खिलाफ 1995 में रेड कार्नर नोटिस जारी किया गया था।

Dawood

पुलिस की कस्टडी में फारुक टकला ने पकिस्तान और दाऊद के रिश्तों को लेकर कुछ नए और काफी चौकाने वाले खुलासे किए हैं। सूत्रों के अनुसार, फारुख ने पूछताछ में बताया कि एक ऐसा वक़्त था जब दाऊद पकिस्तान और दुबई के बीच चक्कर लगाया करता था, लेकिन अब दाऊद स्थाई रूप से पकिस्तान में बस गया है। फारुख टकला उस वक़्त वह टैक्सी ड्राईवर का काम करता था और दाऊद को हवाई और समुद्री रास्ते से पहुचाने का काम वही करता था।

सूत्रों के मुताबिक फारुख ने पूछताछ में ये भी बताया कि पकिस्तान की आर्मी दाऊद की रक्षा करती है। एक बार पकिस्तान के लोकल गुंडों ने दाऊद को मारने की सुपारी ली थी लेकिन समय पर पकिस्तान की आर्मी के लोगों ने दाऊद को बचा लिया और उसे सेफ हाउस में सुरक्षित रखा गया था।

टकला ने बताया दाऊद हमेशा कराची के क्लिफटन एरिया में एक सेफ हाउस में ही रहता है। पकिस्तान के अधिकारियों ने दाऊद को एक सैटलाइट फोन दे रखा है जिसके जरिए वो संपर्क में रहता है। सेफ हाउस के बाहर पाकिस्तानी कोस्टगार्ड की एक ख़ास स्पीड बोट भी तैनात रहती है, जो किसी इमरजेंसी पड़ने पर दाऊद को सेफ हाउस से दुबई शिफ्ट कर सकती है। टकले ने बताया, जब भी कोई अंतरराष्ट्रीय नेता पकिस्तान आता है तो दाऊद को क्लिफटन एरिया से कुछ किलोमीटर दूर अंडा ग्रुप ऑफ़ आईलैंड्स पर बने दुसरे सेफ हाउस में शिफ्ट कर दिया जाता है और इस दौरान पाकिस्तानी कोस्ट गार्ड की एक टीम भी इस सेफ हाउस की सुरक्षा में तैनात रहती है।

loading...
शेयर करें