कर्नाटक चुनाव : रुझान नहीं ये हैं फाइनल आंकड़े, इतनी सीटों पर जीत चुकी है बीजेपी

0

कर्नाटक बेंगलुरु। कर्नाटक में सरकार बनाने पर पेंच फंस गया है। दरअसल किसी भी पार्टी को स्‍पष्‍ट बहुमत न मिलने के कारण अब यहां सियासी गुणा-गणित शुरू हो चुकी है। 104 सीटों पर जीत की संभावना के साथ बीजेपी कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है, लेकिन बहुमत से अभी भी आठ सीट दूर है।

दूसरी तरफ बीजेपी को सत्ता हासिल करने से रोकने के लिए कांग्रेस ने बड़ा दांव चला है। कर्नाटक में कांग्रेस ने जेडीएस को समर्थन देने का ऐलान किया है। पार्टी के नेता जी. परमेश्वर ने कहा है कि हम जनादेश को स्वीकार करते हैं। उसके समक्ष नतमस्तक हैं। कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए हमारे पास आंकड़े नहीं है। ऐसे में कांग्रेस ने सरकार बनाने के लिए जेडीएस को समर्थन देने की पेशकश की है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने बताया कि हमने देवगौड़ा और कुमारस्वामी से बात की है। उन्होंने हमारे ऑफर को स्वीकार कर लिया है। उम्मीद है कि हम साथ होंगे। पूरे नतीजे आने से पहले ही कर्नाटक में सियासी समीकरण तेजी से बदल रहे हैं। कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा है कि हम (कांग्रेस और जेडीएस) संयुक्त रूप से आज शाम को गवर्नर से मुलाकात करेंगे।

कर्नाटक में एक समय रुझानों में 112 के जादुई आंकड़े को पार कर चुकी बीजेपी के सामने बहुमत को लेकर पेंच फंस गया है। वह लगभग 104 सीटों पर जीत हासिल कर चुकी है। ऐसे में बहुमत के आंकड़े से वह 8 सीट दूर नजर आ रही है। यदि कर्नाटक जनता पार्टी, बीएसपी और एक निर्दलीय बीजेपी को समर्थन करते हैं तो वह 109 पर पहुंचेगी, लेकिन बहुमत से तब भी 4 सीट दूर ही रहेगी।

ऐसे में यदि बीजेपी को बहुमत जुटाना है तो वह जेडीएस या कांग्रेस के कुछ विधायकों को पाले में करते हुए उनसे इस्तीफा दिलाने का दांव चल सकती है। ऐसे में उन सीटों पर फिर चुनाव होगा और जीत हासिल कर बहुमत जुटाया जा सकेगा।

फिलहाल कांग्रेस कर्नाटक में लगभग 77 सीटों पर जीत हासिल कर चुकी है, जबकि जेडीएस 36 सीटें हासिल करती दिख रही है। ऐसे में दोनों के साथ आने से उनके लिए बहुमत के जादुई आंकड़े को पाना काफी आसान हो जाएगा। हालांकि अब देखना दिलचस्प होगा कि बीजेपी कांग्रेस के इस दांव पर क्या प्रतिक्रिया देती है।

loading...
शेयर करें