रेणुका चौधरी के हंसने पर मोदी ने दिया करारा जवाब, हैरान रह गए विपक्षी दल

0

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने कल राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पेश किया। इस दौरान मोदी ने कांग्रेस पर तीखे शब्दों के प्रहार किए। सदन में उस वक्त सभी हैरान रह गए जब मोदी ने कांग्रेस की महिला नेता रेणुका चौधरी की हंसी की तुलना रामायण सीरियल के पात्र(अर्थात राक्षसी हंसी) से कर दी।

इशारों-इशारों में उनके कहने का मतलब था कि रेणुका चौधरी की हंसी राक्षसी है। इसके बाद सदन में उस वक्त तो ठहाके गूंज उठे। लेकिन बाद में इसको लेकर राजनीतिक बयानबाजी शुरु हो चुकी है। रेणुका चौधरी ने इस पर जवाब देते हुए कहा है कि वो मोदी के स्तर तक नहीं गिरना चाहती हैं, वरना वो उन्हें उन्हीं की भाषा में जवाब दे सकती हैं।

जानिए क्या है पूरा मामला

राज्यसभा में पीएम मोदी भाषण देते हुए आधार कार्ड के बारे में बता रहे थे। उनका कहना था आधार कार्ड का श्रेय कांग्रेस नहीं ले सकती क्योंकि साल 1998 में लाल कृष्ण आडवाणी ने इसी सदन में इसकी घोषणा की थी।

उन्होंने कहा था कि एक ऐसा पहचान पत्र बनाया जाएगा जोकि सभी भारतीयों की एक पहचान होगा। मोदी की इस बात पर सदन में मौजूद रेणुका चौधरी जोर-जोर से ठहाके मार कर हंसने लगी। इस पर सभापति वैंकेया नायडू ने उन्हें फटकार लगाते हुए शांत रहने को कहा।

जिस पर मोदी ने सभापति से कहा कि रहने दीजिय महोदय रामायण सीरियल के बाद से ऐसी हंसी पहली बार सुनने को मिली है। मोदी की इस बात पर पूरा सदन ठहाकों से गूंज उठा। हालांकि रेणुका चौधरी मोदी के इस तंज पर तिलमिला कर रह गई, मगर सदन में ठहाकों के बीच उनकी बात दब गई।

आनंद शर्मा को भी लिया निशाने पर

सदन में मोदी आज पूरे मूड में दिखाई दिए। रेणुका चौधरी की हंसी बंद करने के बाद उन्होंने कांग्रेस के आनंद शर्मा पर निशाना साधते हुए कहा कि आनंद जी आप तो लंबे समय से यहां बैठे हैं, बोलने का आपका अपना स्टाइल है। आप तो बर्फ का छुरा बनाकर भी घोंप सकते हैं।

रेणुका चौधरी ने पीएम मोदी को दिया ये जवाब

सदन में तो रेणुका चौधरी मोदी को जवाब नहीं दे पाईं, मगर सदन से बाहर निकलते ही उन्होंने मोदी पर हमला बोलो। उन्होंने कहा कि पीएम ने निजी हमला बोला है, वैसे भी आप उनसे और क्या उम्मीद कर सकते हैं। मैं इसका उत्तर देकर उतना गिरना नहीं चाहती हूं। किसी महिला के खिलाफ इस तरह का बयान निंदनीय है। वास्तव में एक औरत का का दर्जा कुछ इस तरह से ही नीचा किया जाता है।

पीएम की इस टिप्पणी पर आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने रेणुका चौधरी जी की हंसी की तुलना रावण से की, अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है की देश के सर्वोच्च सदन में हमारे प्रधान सेवक एक महिला पर ऐसी टिप्पणी करते हैं।

मोदी बोले अब कांग्रेस को खत्म कर देना चाहिए

इससे पहले पीएम मोदी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना किसी दल के लिए नहीं बल्कि पूरे देश के लिए है। अगर कांग्रेस को लगता है कि इसमें कुछ कमी है तो वो सामने आए, मैं खुद समय दूंगा। पीएम ने कहा कि कांग्रेस का 50-55 साल तक सत्ता में रहने पर ज़मीन से कट जाना बड़ा स्वाभाविक है। पीएम ने कहा कि मुझे भी गांधी जी वाला ही भारत चाहिए क्योंकि गांधी जी ने कहा था कि आजादी मिल गई है, अब कांग्रेस को खत्म कर देना चाहिए। कांग्रेस मुक्त भारत का विचार हमारा नहीं गांधी जी का विचार था। हम तो बस उनके पद चिह्नों पर चलने की कोशिश कर रहे हैं।

loading...
शेयर करें