वाराणसी फ्लाईओवर हादसा : मानवता हुई शर्मसार, पोस्टमॉर्टम हाउस में हो रही शवों की सौदेबाज़ी

0

वाराणसी। उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में मंगलवार को बड़ा दर्दनाक हादसा हुआ। यहां कैंट रेलवे स्टेशन के पास एक निर्माणाधीन पुल गिर गया जिससे 18 लोगों की मौत हो गई। इसी बीच एक दिल दहला देने वाला वीडियो सामने आया है जिसमें बीएचयू के पोस्टमॉर्टम हाउस मे मृतक के परिजनों से 300-300 रुपये मांगे जा रहे हैं।

वाराणसी फ्लाईओवर हादसा

एक सख्श ने अस्पताल में घटी इस घटना की वीडियो रिकॉर्डिंग को सबूत के तौर पर पेश किया है और कहा है कि एक लाश के पोस्टमार्टम के लिए 300 रुपए की मांग की गई। पैसे न देने पर अस्पताल प्रशासन ने कहा कि जब तक पैसे नहीं मिलेंगे ये लाशें ऐसे ही पड़ी रहेंगी।

वाराणसी फ्लाईओवर हादसा

अपने परिवार के पांच सदस्यों को खो चुके जीतेंद्र यादव का कहना है कि ये संवेदनहीनता की पराकाष्ठा है। उन्होंने आगे कहा कि मानवता मर चुकी है और इस घटना के बाद उन्हें लगता है कि प्रजातंत्र की भी मौत हो गई है। उन्होंने जानकारी दी कि मंगलवार से ही वो अपने परिजनों की लाशें लेकर घूम रहे हैं लेकिन प्रशासन ने उनका कोई सहयोग नहीं किया। ऐसे में ये सवाल उठता है कि क्या प्रशासन का काम सिर्फ मुआवजा देना और दुख प्रकट करना है। क्या उनकी और कोई जिम्मेदारी नहीं है।

वाराणसी फ्लाईओवर हादसा

सीएम योगी ने वाराणसी हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को 5-5 लाख तथा घायलों को 2-2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। साथ ही उन्होंने पुलिस, स्वास्थ्य व जिला प्रशासन को हादसा प्रभावितों की हर संभव सहायता देने के निर्देश दिए हैं।

आपको बता दें कि यह दुर्घटना वाराणसी कैंट रेलवे स्टेशन के पास जीटी रोड पर कमलापति त्रिपाठी इंटर कॉलेज के सामने घटित हुई है। घटनास्थल का नजारा बड़ा ही वीभत्स है। निर्माणाधीन पिलर के नीचे चार कारें, पांच ऑटो, एक सिटी बस और कई मोटरसाइकिल दब गई हैं।

 

 

loading...
शेयर करें