शहीद अनिल कुमार मौर्य का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार, उमड़ा जनसैलाब

0

लखनऊ/अमेठी| छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए उत्तर प्रदेश में अमेठी जिले के निवासी केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवान अनिल कुमार मौर्य का शव रविवार को जब उनके पैतृक गांव पूरे खोझवा पहुंचा तो जनसैलाब उमड़ पड़ा। मंत्री, विधायक और प्रशासनिक अफसरों की मौजूदगी में राजकीय सम्मान के साथ शहीद के शव का अंतिम संस्कार किया गया। शहीद के छोटे भाई अजय कुमार मौर्य ने शव को मुखाग्नि दी।

अनिल कुमार मौर्य

इस दौरान प्रभारी मंत्री मोहसिन रजा, विधायक गरिमा सिंह, विधायक राकेश प्रताप सिंह, भाजपा नेता अनंत विक्रम सिंह, सीआरपीएफ के डीआईजी, कमाडेंट, डीएम, एसपी ने भी उन्हें पुष्प अर्पण कर श्रद्घांजलि दी।

प्रभारी मंत्री मोहसिन रजा ने शहीद की पत्नी को 20 लाख रुपये और माता-पिता को पांच लाख रुपये का चेक दिया।उल्लेखनीय है कि राम प्यारे मौर्य के पुत्र अनिल कुमार कुमार मौर्य (50) छत्तीसगढ़ प्रांत के सुकमा में सीआरपीएफ 212 बटालियन के यूनिट सात में एएसआई के पद पर तैनात थे। शुक्रवार देर रात सुकमा में सर्च ऑपरेशन के दौरान नक्सलियों से हुई मुठभेड़ में एसआई अनिल कुमार मौर्य बहादुरी से लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हो गए थे> शहीद के 2 बेटे और 2 बेटियां हैं और वह अपने 3 भाइयों में से सबसे बड़े थे>

loading...
शेयर करें