शेयर बाजार : तिमाही नतीजे, फेड रिजर्व की बैठक पर रहेगी नजर

0

नई दिल्ली। अगले सप्ताह शेयर बाजार की चाल प्रमुख कंपनियों की जनवरी-मार्च अवधि की तिमाही नतीजे, घरेलू और वैश्विक बाजार के व्यापक आर्थिक आंकड़े, वैश्विक बाजारों के प्रदर्शन, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) और घरेलू संस्थापक निवेशकों (डीआईआई) द्वारा किए गए निवेश, डॉलर के खिलाफ रुपये की चाल और कच्चे तेल की कीमतों के आधार पर तय होंगे। भारतीय शेयर बाजार मंगलवार (1 मई) को महाराष्ट्र दिवस के अवसर पर बंद होंगे।

अगले सप्ताह जिन कंपनियों के तिमाही नतीजे जारी होंगे, उनमें एचडीएफसी अपनी चौथी तिमाही के नतीजे सोमवार (30 अप्रैल) को जारी करेगी। एचसीएल टेक्नॉलजीज और हीरो मोटोकॉर्प पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही के नतीजे बुधवार (2 मई) को जारी करेगी। अडानी पोर्ट्स और वेदांता ने जनवरी-मार्च तिमाही के नतीजे गुरुवार (3 मई) को जारी होंगे।

अंबुजा सीमेंट अपनी मार्च तिमाही के नतीजे शुक्रवार (4 मई) को जारी करेगी।अगले सप्ताह निवेशकों की नजर वाहन कंपनियों के शेयरों पर भी रहेगी, क्योंकि विभिन्न ऑटोमोबाइल कंपनियां अपनी अप्रैल की बिक्री के आंकडे 1 मई से जारी करेंगी। घरेलू आर्थिक आंकड़ों में, मार्किट इकॉनमिक्स देश के विनिर्माण क्षेत्र के प्रदर्शन के अप्रैल के आंकड़े बुधवार (2 मई) को जारी करेगी।

निक्केई मैनुफैक्चरिंग पीएमआी मार्च में 51 पर और इसके पिछले महीने 52.1 पर थी। इस सूचकांक में 50 से अधिक का अंक तेजी और 50 से कम का अंक मंदी का संकेत है। मार्किट इकॉनमिक्स देश के सेवा क्षेत्र के प्रदर्शन का अप्रैल का आंकडा शुक्रवार (4 मई) को जारी करेगी। निक्केई सर्विसेज पीएमआई मार्च में बढ़कर 50.3 पर था, जबकि फरवरी में यह 47.8 पर था।

वैश्विक मोर्चे पर, चीन की काइशिन मैनुफैक्चरिंग पर्चेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (पीएमआई) का अप्रैल का आंकड़ा बुधवार (3 मई) को जारी किया जाएगा। अमेरिका का अप्रैल का आईएसएम मैनुफैक्चरिंग पीएमआई आंकड़ा मंगलवार (1 मई) को जारी किया जाएगा।

अमेरिका के फेडरल ओपन मार्केट कमिटी (एफओएमसी) प्रमुख ब्याज दरों की बुधवार (2 मई) को समीक्षा करेगी। फेड रिजर्व में मार्च में की गई अपनी पिछली समीक्षा में ब्याज दरों में बढ़ोतरी की थी। इसलिए उम्मीद की जा रही है कि इस बार ब्याज दरों में कोई परिवर्तन नहीं किया जाएगा।

loading...
शेयर करें