बिहार में लापता हुए तीन बच्चों में से एक की हत्या, दो जान बचा पहुंचे घर

0

पटना। बिहार में गया जिले की एक घटना सामने आई है, जिसके बारे में आप सुनेंगे तो रोंगेटे खड़े हो जाएंगे। मामला  रामपुर थाना क्षेत्र का है जहां मंगलवार शाम लापता हुए तीन बच्चों में से एक बच्ची का शव बुधवार को एक झाड़ी से बरामद हुआ और दो बच्चे किसी तरह से अपने आपको बचाने में कामयाब हुए।

इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस इस घटना के पीछे आपसी रंजिश की बात कह रही है। पुलिस के अनुसार, गेवाल बिगहा अखाड़ा मुहल्ले में मंगलवार शाम संजय कुमार की बेटी तन्नू, अरुण शर्मा का पुत्र सूरज कुमार और विजय मिस्त्री का पुत्र अंकित कुमार खेलने के बाद शाम को घर नहीं लौटे थे। इसके बाद परिजनों ने खोजबीन प्रारंभ कर दी।

जानें पूरी घटना के बारे में…

इनमें से सबसे पहले सूरज बुधवार तड़के भागकर घर पहुंचा। उसने बताया कि अंकित को मारकर चंदौती थाना क्षेत्र के खिरियावां में फल्गु नदी के किनारे रस्सी से बांध दिया गया है। इसके बाद परिजन और पुलिस खिरियावां पहुंचे तो अंकित को घायल अवस्था में रस्सी से बंधा पाया। इसके बाद तन्नू का शव भी एक झाड़ी से बरामद हो गया। रामपुर के थाना प्रभारी सुजय विद्यार्थी ने बताया कि मामले में इसी मुहल्ले के निवासी छोटू कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि परिजनों का कहना है कि मंगलवार को किसी बात को लेकर छोटू से लड़ाई हुई थी।

इसके बाद छोटू ने सबक सिखाने की धमकी दी थी। उन्होंने बताया कि घायल बच्चों को इलाज के लिए मगध मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं, आक्रोशित भीड़ ने गेवाल बिगहा में सड़क जाम कर हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान ग्रामीणों ने एक मोटरसाइकिल में आग लगा दी। हंगामे के कारण गेवाल बिगहा मुख्य मार्ग पर आवागमन दो घंटे बाधित रहा। पुलिस ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है तथा जांच जारी है।

loading...
शेयर करें