बंद पड़ी कोयले की खदान धसने से चार महिलाओं की मौत, एक गंभीर रूप से घायल

0

भोपाल। मध्य प्रदेश के बैतूल जिले में एक बड़ा दर्दनाक हादसा हो गया। यहां कोयला की खदान के धसने से चार महिलाओं को अपनी जान से हाथ धोना पड़ गया। बता दें की बंद पड़ी कोयला खदान से कोयला निकालने गईं गरीब परिवार की पांच महिलाएं खदान के धंस जाने से मलबे में दब गईं। इस हादसे में चार महिलाओं की मौत हो गई और एक घायल है, जिसे अस्पताल भेजा गया है।

बैतूल के पुलिस अधीक्षक डी.आर. सेनवार ने मीडिया को बताया कि पाथाखेड़ा क्षेत्र में डब्ल्यूसीएल की बंद पड़ी खदान में से कोयला निकालने रविवार को पांच महिलाएं गई थीं। कोयला निकालने के क्रम में वे गहराई तक पहुंच गईं, तभी खदान का ऊपरी हिस्सा ढह गया। पांचों महिलाएं मलबे में दब गईं। उनमें से चार महिलाओं की मौत हो गई और एक गंभीर रूप से घायल है।

पुलिस ने और क्या बताया

इस मामले में आगे पुलिस ने विस्तार से बताया कि राहत और बचाव कार्य के दौरान चार महिलाओं के शव बरामद कर लिए गए हैं। घायल महिला को अस्पताल भेजा गया है। सभी गरीब परिवार से हैं, उनके परिजनों को शासन द्वारा निर्धारित राहत राशि दी जाएगी। स्थानीय लोगों ने बताया कि पाथाखेड़ा में डब्ल्यूसीएल की कोयला खदान लंबे अरसे से बंद पड़ी है, जिससे स्थानीय गरीब परिवार ईंधन के लिए कोयला निकालते रहते हैं। उसी क्रम में रविवार को यह हादसा हो गया।

loading...
शेयर करें