इन्फर्मेशन टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा भी दिला रहा जॉब के बढ़िया मौके…

0

नई दिल्ली। आईटी यानि इंफर्मेशन टेक्नॉलजी जॉब के जबरदस्त अवसर प्रदान कर रहा हैं. यह फिल्ड टेक्नॉलजी के उपयोग को बढ़ावा दे रहा हैं. इंफर्मेशन टेक्नॉलजी जॉब के मामले में एक ऐसा सेक्टर हैं जिसमे माना जा रहा हैं कि जॉब मिलने की संभावनाओं में इजाफा हो रहा है। इंनॉस्कॉम की रिपोर्ट की मानें तो भारत 2020 तक विश्व का सबसे बड़ा इंटरनेट मार्केट होगा क्योंकि इसके यूजर्स की संख्या तब तक 730 मीलियन पार कर जाएगी। आज के समय में छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी कोई भी कंपनी हो सबकी अपनी वेबसाइट है।

इन्फर्मेशन टेक्नोलॉजी

देश में ज्यादातर कारोबार ऑनलाइन ही चल रहे है। इन सबकी जिम्मेदारी आईटी सेक्टर से जुड़े कैंडिडेट्स की ही होती है। इन सबको बनाने से लेकर उनकी सुरक्षा करना एक आईटी सेक्टर से जुड़े बन्दे की होती है। इंफर्मेशन टेक्नॉलजी कोर्स में डिप्लोमा करके छोटे पद से लेकर उच्च शिक्षा हासिल करने बाद बड़े पद तक हैं। आइये जानते हैं इंफर्मेशन टेक्नॉलजी के बारें में पूरी जानकारी-

इंफर्मेशन टेक्नॉलजी- यह एक ऐसी टेक्नॉलजी है जिसके द्वारा सूचना, डाटा स्टोर करना और डाटा या सूचना की शेयरिंग के साथ इसकी सिक्यॉरिटी भी सुनिश्चित की जाती है। यह कंप्यूटर साइंस की एक स्पेशलाइज्ड ब्रांच है जिसमें कंप्यूटर से रिलेटेड जितने भी ऐप्लिकेशन हैं, उनकी प्रैक्टिकल नॉलेज पर जोर दिया जाता है।

क्या हैं कोर्स– इसमें आप यूजी, पीजी से लेकर एमफिल और पीएचडी तक कर सकते हैं। यदि आप इसमें बीटेक करना चाह रहे हैं तो इंटर, मैथ+फिजिक्स+केमिस्ट्री/कंप्यूटर साइंस में करना होगा। बीटेक के बाद एमटेक व पीएचडी तक किया जा सकता है। एमटेक या पीएचडी: एमटेक या पीएचडी करने के लिए आपको स्टेट लेवल के एग्जाम जैसे नेट, गेट आदि को क्वालिफाई करना होगा।

नोट: गवर्नमेंट इंस्टिट्यूट में ऐडमिशन लेने के लिए आपको ये एग्जाम क्वालिफाई करने होंगे लेकिन यदि आप प्राइवेट इंस्टिट्यूट में ऐडमिशन लेना चाहते हैं तो ये एग्जाम आपको एक्स्ट्रा एडवांटेज देंगे। प्राइवेट इंस्टिट्यूट हर साल इंट्रेंस टेस्ट ऑर्गनाइज्ड कराते हैं। ये इसमें स्कोर किए गए अंकों के आधार पर ही ऐडमिशन देते हैं। कुछ संस्थान टेस्ट+इंटरव्यू+ग्रुप डिस्कशन के द्वारा ऐडमिशन लेते हैं।

जॉब प्रोफाइल: कंप्यूटर प्रोग्रामर, डाटाबेस एडमिनेस्ट्रेटर, डाटाबेस डिजाइनर, डाटा वेयरहाउस डिजाइनर, ईआरपी, नेटवर्किंग एडमिनेस्ट्रेटर, नेटवर्क इंजिनियर, प्रॉजेक्ट मैनेजर, क्वॉलिटी एश्यारेंस स्पेशलिस्ट, सिस्टम इंजिनियर, टेक्निकल राइटर्स आदि।

करियर प्रस्पेक्टिव: यदि करियर ग्रोथ व जॉब के नजरिए से देखा जाए तो इंजिनियरिंग की जितनी भी कोर ब्रांचेज हैं उनमें से सबसे ज्यादा ग्रोथ व जॉब इस सेक्टर के स्टूडेंट्स को मिलती है। मान लीजिए यदि 40 प्रतिशत सभी कोर ब्रांचेज को मिलाकर जॉब मिल रहीं है तो 60 प्रतिशत अकेले इंफर्मेशन सेक्टर से जुड़े कोर्स करने वालों को मिलती है।

कहां मिलेगी जॉब: देश की टॉप इंडस्ट्रीज जैसे टाटा कंसल्टेन्सी सर्विसेज, एल एंड टी, हिन्दुस्तान यूनिलीवर, इरकॉन इंटरनैशनल जैसी तमाम कंपनियों के अलावा मेडिकल सेक्टर, गवर्नमेंट सेक्टर, सेमी गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब के अच्छे विकल्प हैं।

सैलरी: करियर की शुरुआत 3 से 4 लाख तक के सालाना पैकेज से होती है और बाद में एक्सपीरियंस के साथ पैकेज बढ़ता जाता है।

देश के टॉप संस्थान:

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ इंफर्मेशन टेक्नॉलजी

बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी

नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी

यदि आप देश के टॉप संस्थानों में ऐडमिशन लेना चाहते हैं तो नैशनल लेवल के इंजिनियरिंग इंट्रेस एग्जाम क्वालिफाई करने होंगे।

सर्टिफिकेट कोर्स इन इंफर्मेशन टेक्नॉलजी

सर्टिफिकेट/डिप्लोमा प्रोग्राम: इंफर्मेशन टेक्नॉलजी की फील्ड में बहुत से ऐसे सर्टिफिकेट/डिप्लोमा कोर्स हैं जिन्हें कर आप बेहतर करियर बना सकते है। जैसे जावा सर्टिफिकेट कोर्स, पाइथन ट्रेनिंग कोर्स, डॉट नेट टेक्नॉलजी कोर्स, नेटवर्किंग, डाटा साइंस ट्रेनिंग, क्लाउड कंप्यूटिंग, वेबसाइट डिजाइनर, डाटा एनालिटिक, डिजिटल मीडिया सिक्यॉरिटरी, साइबर सिक्यॉरिटी, बिग डाटा एनालिसिस, ग्राफिक डिजाइनिंग आदि।

लखनऊ की टॉप यूनिवर्सिटीजः

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी

इंस्टिट्यूट ऑफ इंजिनियरिंग एंड टेक्नॉलजी

बाबू बनारसी दास टेक्निकल यूनिवर्सिटी

श्री राम स्वरूप मेमोरियल यूनिवसिर्टी

नाइलेट

नोट: इसके लिए आपको यूपीएसईई का एग्जाम जो यूपीटीयू कंडक्ट कराता है, क्वालिफाई करना होगा।

ऑनलाइन भी हैं मौके: इंफर्मेशन टेक्नॉलजी से सर्टिफिकेट व डिप्लोमा करने के लिए आप घर बैठे ई-लर्निंग के द्वारा कर सकते है। इनमें ऐसे एडवांस्ड कोर्स अवलेबिल हैं जो देश के टॉप संस्थानों में नौकरी दिलाने में मदद करेगा। इनके सर्टिफिकेट्स हर जगह वैलिड है।

संस्थान: गूगल

कोर्स: टेक्निकल सपॉर्ट फंडामेंटल

संस्थान: यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन

कोर्स: प्रोग्रामिंग लैंग्वेज

संस्थान: स्टैनफोर्ड यूनिवसिर्टी

कोर्स: मशीन लर्निंग

संस्थान: इग्नू

कोर्स: एडवांस्ड सर्टिफिकेट इन इंफर्मेशन सिक्यॉरिटी, एडवांस्ड डिप्लोमा इन इंफर्मेशन सिक्यॉरिटी

एक्सपर्ट एडवाइजः
-प्रफेसर ए एस विद्यार्थी, आईईटी, लखनऊ
इस सेक्टर में जॉब की बहुत संभावनाएं हैं, फिर चाहे वह इंटरनेट सिक्यॉरिटी से रिलेटेड कोई कोर्स हो या एथिकल हैकिंग। कोर्स के दौरान ही कैंडिडेट्स को प्रैक्टिकल नॉलेज के लिए इंटरनेट के सभी पहलुओं से रूबरू कराया जाता है, जिससे बाद में उन्हें कोई दिक्कत न हो। कॉलेज प्लेसमेंट के दौरान जब स्टूडेंट्स को जॉब ऑफर होती तो उन्हें प्रॉजेक्ट वर्क में बतौर प्रॉजेक्ट अस्सिस्टेंट रखा जाता है। बाद में एक्सपीरयंस बढ़ने के साथ ही उनकी जॉब प्रोफाइल में इजाफा होता है। जिसके बाद वे आईटी प्रॉजेक्ट मैनेजर या पद और कंपनी के अनुसार वे टॉप रैंक के अधिकारी बन जाते हैं।

loading...
शेयर करें