भाजपा ने संकल्प पत्र नहीं अपना छल पत्र जारी किया है

0

लखनऊ। भाजपा ने रविवार को नगर निकाय चुनाव के लिए अपना संकल्प पत्र जारी किया। इस संकल्प पत्र पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव निशाना साधा है। अखिलेश यादव ने कहा कि नगर निकाय चुनावों की निष्पक्षता भंग करने की साजिश के तहत ही भाजपा ने एक बार फिर संकल्प पत्र जारी किया है। वस्तुत: यह संकल्प पत्र नहीं, छल पत्र है।    

उन्होंने कहा कि इस संकल्प पत्र की न कोई विश्वसनीयता है और न उसकी साख बची है। बीजेपी ने अपनी जेब में अफीम की पुडिया रखते हैं ताकि अपने जनता को आने झूठ से मदहोश कर सके।  अखिलेश ने अपने बयान में कहा कि भाजपा ने अपना वडा कभी पूरा किया है जो आगे पूरा करेगी। प्रदेश के मतदाता भूले नहीं हैं, आठ महीने पहले किये इनके वादों को। भाजपा सरकार में हर तरफ अव्यवस्था और अराजकता फैली है।

ये भी पढ़ें…बीजेपी सरकार में सिर्फ नफरत का ही विकास हो रहा है

शहरों में गंदगी-कूड़े के ढेर लगे हैं, बीमारियां फैल रही है, डेंगू से कितनी ही मौतें हो चुकी हैं, गोरखपुर में सैकड़ों बच्चों की मौतें हो चुकी है। दवा और ऑक्सीजन के बगैर अस्पतालों में मौतें हो रही हैं। कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त है, जबकि समाजवादी सरकार के समय अपराध की घटनाओं पर रोक लगी थी।

इसके पहले अखिलेश यादव ने भाजपा पर इल्जाम लगाया था था कि देश और प्रदेश में अगर किसी का विकास हो रहा है तो वो है सर नफरत का। भाजपा सिर्फ लोगों के बीच नफरत फैलाती है। अखिलेश ने कहा कि भाजपा का एक मात्र उद्देश्य उनके खिलाफ प्रचार करना है। दिल्ली की सरकार के चार वर्ष और उप्र की सरकार के आठ महीने बिना किसी उपलब्धि के बीत गए। भाजपा की क्या दिशा है यह भी तय नहीं है।

loading...
शेयर करें

आपकी राय