15 साल पहले भगवान के घर पर हमला करने वाले आतंकी को पुलिस ने अब किया गिरफ्तार

0

अहमदाबाद। गुजरात की राजधानी गांधीनगर स्थित अक्षरधाम मंदिर पर सितंबर 2002 में आतंकी हमला हुआ था। जिसका मुख्य आरोपी अजमेरी अब्दुल रशीद पिछले 15 सालों से फरार चल रहा था। आज अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने अब्दुल रशीद अजमेरी को अहमदाबाद में सरदार वल्लभभाई पटेल हवाई अड्डे से गिरफ्तार कर लिया। बता दें उसका भाई अजमेरी आदम भी इस हमले में शामिल था लेकिन उसे सुप्रीम कोर्ट ने रिहा कर दिया है।

अदालत में पेश कर आगे पूछताछ के लिए हिरासत में लिया जायेगा

क्राइम ब्रांच के डीसीपी दीपेन भद्रन ने बताया कि पक्की सूचना के आधार पर सऊदी अरब के रियाद से कुवैत एयरलाइन्स की एक उड़ान के जरिए यहां पहुंचे अब्दुल रशीद अजमेरी को उनकी टीम ने हवाई अड्डे से पकड़ लिया। उसे एक स्थानीय विशेष अदालत में पेश कर आगे पूछताछ के लिए हिरासत में लिया जायेगा।

2014 में सुप्रीम कोर्ट ने केस के सभी 6 अभियुक्तों को बरी कर दिया था

गौरतलब है कि 24 सितंबर 2002 को गांधीनगर स्थित अक्षरधाम मंदिर में बंदूकधारियों ने घुसकर फायरिंग शुरू कर दी थी। इस फिदायनी हमले में 32 श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी। इतना ही नहीं इस हमले में 3 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे। मई 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने केस के सभी 6 अभियुक्तों को बरी कर दिया था। इन 6 में से 3 को सजा-ए-मौत की सजा मिली थी, जबकि एक को POTA की एक अदालत ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। सर्वोच्च अदालत ने पर्याप्त सबूतों के अभाव में आरोपियों को बरी किया था।

loading...
शेयर करें

आपकी राय