अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन का निजीकरण करना चाह रहा अमेरिका

0

वाशिंगटन: अमेरिका पृथ्वी की निचली कक्षा में स्थित अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन का निजीकरण करना चाह रहा है। अमेरिका की यह कोशिश आने वाले वर्षों में इस महंगे अंतरिक्ष स्टेशन पर हो रहे वित्तीय खर्च को बंद करने के लिए हैं। नासा ने इस अंतरिक्ष स्टेशन को अपने रूसी समकक्ष के साथ मिल कर संयुक्त रूप से विकसित किया है। अभी इसका संचालन भी नासा के नेतृत्व में ही हो रहा है।

अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन

मिली जानकारी के अनुसार, अमेरिका की योजना अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के निजीकरण की है। इस अंतरिक्ष स्टेशन में पृथ्वी की निचली कक्षा के वायुमंडल में वैज्ञानिक अध्ययन करने के लिए कनाडा, यूरोपीय और जापानी अंतरिक्ष एजेंसियों के सहयोग से अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञ काम कर रहे हैं।

इस बात की जानकारी नासा के एक अंदरूनी दस्तावेज से हुई है जिसमें कहा गया है कि वर्ष 2025 तक अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए सीधा संघीय सहयोग बंद करने का मतलब यह नहीं है कि तब तक यह मंच खुद ही बंद हो जाएगा। इसमें आगे कहा गया है कि यह संभव है कि उद्योग भावी वाणिज्यिक मंच के हिस्से के तौर पर अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के कुछ हिस्सों को संचालित करता रहे।

इस दस्तावेज से मिली जानकारी से यह भी पता चला है कि नासा अगले सात साल के दौरान अंतर्राष्ट्रीय और वाणिज्यिक भागीदारी का विस्तार करेगा ताकि पृथ्वी की निचली कक्षा तक मानवीय पहुंच और उपस्थिति लगातार बनी रहे।

loading...
शेयर करें