इंडियन आर्मी पर मंडराया हनी ट्रैप का साया, जांच के घेरे में एक और अफसर

0

नई दिल्ली। आईएसआई के हनी ट्रैप में फंसने के बाद अब इंडियन आर्मी के एक सैन्य अधिकारी को हनी ट्रैप मामले में हिरासत में लिया गया है। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक मध्य प्रदेश के जबलपुर में तैनात लेफ्टिनेंट कर्नल रैंक का सेना अधिकारी को खुफिया शाखा ने हनी ट्रैप के मामले में हिरासत में लिया है। संदेह है कि सेना अधिकारी ने आईएसआई के हनी ट्रैप में फंसकर कुछ अहम जानकारियां दुश्‍मन को लीक कर दी हैं।

सेना के इस अधिकारी पर आरोप है कि इसने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के हनी ट्रैप में फंसकर देश के दुश्मनों को खुफिया जानकारी उपलब्ध करायी है। मामले की गंभीरता को देखते हुए सेना का कोई अधिकारी इसके बारे में जानकारी नहीं देना चाहता। यहां तक कि अधिकारी का नाम भी सार्वजनिक नहीं किया गया है।

जानकारी के अनुसार सेना का यह अधिकारी आर्मी के जगलपुर वर्कशॉप में कार्यरत था। अधिकारी के दफ्तर को सील कर दिया गया है। दफ्तर से जांच के लिए कई दस्‍तावेज और कम्‍प्‍यूटर का हार्ड डिस्‍क भी सेना ने अपने कब्‍जे में लिया है। सेना के उच्‍च अधिकारियों को सूचना मिली थी कि आरोपी अधिकारी के खाते में काफी पैसे भी जमा किये गये हैं, हालांकि इसकी अभी पुष्टि नहीं हो पायी है।

आइएसआइ का एक एजेंट लड़की बनकर अरुण मारवाह से चैट किया करता था। जिसके बाद दोनों में फोन पर लगातार चैटिंग होने लगी। दोनों एक दूसरे को अश्लील मैसेज भेजते थे। इस दौरान मारवाह ने कुछ गोपनीय दस्‍तावेज उसे उपलब्‍ध भी कराये थे।

हनी ट्रैप मामले में लखनऊ कमांड हैडक्वार्टर के खुफिया शाखा ने मंगलवार रात को दबिश देते हुए सैन्य अधिकारी को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है। सैन्य सूत्रों का कहना है कि एक लेफ्टिनेंट कर्नल के खिलाफ आर्मी इंटेलिजेंस की ओर से यह बड़ी कार्रवाई की गई है।

loading...
शेयर करें