महाराष्ट्र सरकार बोली: विजय माल्या के लिए हमारी जेलें एकदम फिट, एकबार आकर देख लें

0

मुंबई। किंगफिशर के मालिक विजय माल्‍या लंदन में आजाद घूम रहे हैं। वहीं भारत में उनके खिलाफ अरेस्‍ट वारंट निकल चुका है। विजय माल्‍या ने बयान दिया था कि भारत की जेलें उनके लायक नहीं है। लेकिन महाराष्‍ट्र की फड़णवीस सरकार ने उनके बयान पर प्रतिक्रिया दी है।

http://puridunia.com/arthur-jail-is-b…maharashtra-govt/287740/माल्‍या ने दी थी कोर्ट में अर्जी

शराब कारोबारी विजय माल्या ने ब्रिटिश कोर्ट में अर्जी दे रखी है कि उसे भारत प्रत्यर्पित न किया जाए, क्योंकि वहां की जेलें अच्छी नहीं होती हैं। इसके अलावा माल्‍या ने अपनी बीमारी का भी बहाना बनाया था। वहीं इससे इतर महाराष्ट्र सरकार ने इस बात पर एक रिपोर्ट पेश की है। जिसमे यह साफ कर दिया है कि आर्थर रोड जेल किसी भी लिहाज से यूरोपियन जेलों से कम नहीं है।

ऑर्थर रोड जल में सभी सुविधाएं मौजूद

राज्‍य की बीजेपी सरकार ने केंद्र सरकार को एक रिपोर्ट भेजी है। जिसमे कहा गया है कि आर्थर रोड जेल का 12 नंबर यूनिट (जहां आतंकी अजमल कसाब को रखा गया था) में एसी को छोड़कर वह सारी सुविधा है जो एक यूरोपियन जेल में मिलती है। जेल के एडिशनल डायरेक्टर ऑफ पुलिस बीके उपाध्याय ने कहा है कि हमने केंद्र सरकार को एक रिपोर्ट भेजी है। उस रिपोर्ट में हमने सारे कागजात डाले हैं जो हमारे दावे को पुख्ता करती है।

डायबिटीज का दिया हवाला

शराब कारोबारी के वकील ने बताया कि माल्‍या डायबिटिज से पीड़ित है, इसलिए उसे घर का खाना और उचित मेडिकल सुविधाएं चाहिए। महाराष्ट्र गृह विभाग ने केंद्र को बताया है कि कोर्ट इजाजत दे तो अंडरट्रायल रहते हुए माल्या को घर से खाना मंगाने की इजाजत होगी। हालांकि दोषी होने पर उसे जेल का खाना दिया जाएगा।

विजय माल्या2016 से फरार है माल्‍या

मार्च 2016 से विजय माल्या ब्रिटेन फरार हो चुका है। उस पर 9 हजार करोड़ से ज्यादा कर्ज बकाया है। उसे 18 अप्रैल को पहली बार गिरफ्तार किया गया था। वहीं 2 सितंबर को भी बैंकों के कर्जदार और शराब व्यवसायी विजय माल्या को लंदन में गिरफ्तार करने के कुछ ही मिनटों बाद जमानत मिल गई थी। माल्या को ED से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में अरेस्ट किया गया था।

loading...
शेयर करें

आपकी राय