मणिशंकर अय्यर के बयान पर भड़के जेटली, कहा- राजनीति के योग्य नहीं

0

नई दिल्ली| प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करने वाले कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने अपनी इस करतूत पर सफाई देते हुए माफी मांग ली हो, लेकिन उनके इस बयान की वजह से वह बीजेपी नेताओं के निशाने पर आ गए हैं। इस बार हमला केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने किया है। उन्होंने गुरुवार को कहा कि वरिष्ठ कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर द्वारा प्रधानमंत्री के लिए प्रयुक्त ‘नीच’ शब्द से ऐसी मानसिकता जाहिर होती है कि सिर्फ एक कुलीन परिवार ही शासक हो सकता है और बाकी सब ‘नीच’ ही हैं।

जेटली ने मोदी के लिए अय्यर की टिप्पणी का जवाब देते हुए अपने एक ट्वीट में लिखा कि कांग्रेस पार्टी ने प्रधानमंत्री को ‘नीच’ कहकर भारत के कमजोर और पिछड़े वर्गो को चुनौती दी है। भारत के लोकतंत्र की ताकत तब प्रदर्शित होगी जब साधारण पृष्ठभूमि का एक व्यक्ति राजनीति में वंश और उनके प्रतिनिधियों को पराजित करेगा।

जेटली ने बाद में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि यह रोजाना प्रधानमंत्री को अपमानित करने और फिर बाद में इससे पलट जाने की कांगेस की रणनीति का हिस्सा है। अय्यर द्वारा दी गई सफाई की ओर इशारा करते हुए जेटली ने कहा कि अगर आप अपनी भाषा और तथ्य को लेकर आश्वस्त नहीं हैं तो आप राजनीति में होने के योग्य नहीं हैं।

आपको बता दें कि कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने मोदी पर विवादित टिप्पणी करते हुए कहा कि बीजेपी को अम्‍बेडकर के बारे में कुछ नहीं पता। ये (पीएम मोदी) बहुत नीच किस्म का आदमी है। इसमें कोई सभ्यता नहीं है और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या आवश्यकता है।

उनके इस बयान ने राजनीतिक गलियारों का माहौल खासा गर्म कर दिया था। पीएम मोदी ने अपने खिलाफ दिए गए इस बयान को मुद्दा बताते हुए जनसभा में उछाल दिया। जिसके बाद कांग्रेस बैकफुट पर जाती नजर आई।

कांग्रेस के खिलाफ हो रहे इन हमलों से बचाव करते हुए राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि बीजेपी और पीएम कांग्रेस पर हमला करने के लिए लगातार खराब भाषा का इस्तेमाल करते हैं। कांग्रेस की अलग संस्कृति और विरासत है। मैं मणिशंकर द्वारा मोदी के लिए इस्तेमाल भाषा और लहजे की निंदा करता हूं। कांग्रेस और मुझे दोनों को ही लगता है कि उन्हें अपने बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए।

इसके बाद अय्यर ने देर नहीं की और अपने बयान पर सफाई देते हुए माफी मांग ली। उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि हिंदी उनकी भाषा नहीं है। अंग्रेजी में Low शब्द सोचकर हिंदी में नीच शब्द का इस्तेमाल किया था। मणिशंकर के मुताबिक, अगर हिंदी में लो का मतलब ‘लो बॉर्न’ (नीची जाति में जन्म लेने वाला) होता है तो वह माफी मांगते हैं।

loading...
शेयर करें

आपकी राय