खुद सेना से सुरक्षा लेने वाले भागवत बोले, ‘भारतीय सेना से पहले 3 दिन में RSS के लोग तैयार हो जाएंगे’

0

मुजफ्फरपुर। संघ प्रमुख मोहन भागवत ने भारतीय सेना को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि की देश के लिए जरुरत पड़ने पर संघ तीन दिनों में सेना तैयार कर देगी। जबकि सेना को ऐसा करने में 6 से 7 महीने लगते हैं। भागवत का यह बयान ऐसे समय में आया है जब हाल ही में जम्मू में आतंकवादी हमला हुआ है। उनेक इस बयान को लेकर विपक्ष ने हंगामा शुरु कर दिया है। विपक्ष ने इसे सेना का अपमान बताया है। उन्होंने भागवत से माफी मांगने को कहा है। भागवत ने यह बयान रविवार को मुजफ्फरपुर में संघ के एक स्कूल में एक सभा को संबोधित करते हुए दिया।

मामले पर आरएसएस ने दी सफाई

मोहन भागवत के बयान पर विवाद गहराता देख आरएसएस ने सफाई दी है। उनकी तरफ से आए बयान में कहा गया है कि संघ प्रमुख का मतलब सेना का अपमान करने का बिल्कुल भी नही था। उनकी बात का मतलब था कि आम लोगों के मुकाबले संघ के लोग सैन्य ट्रेनिंग लेकर जल्दी देश की रक्षा करने में सक्षम बन सकते हैं। इससे पहले अपने भाषण में भागवत ने संघ की तारीफ करते हुए कहा था कि हम सेना नहीं हैं, लेकिन संघ का अनुशासन किसी भी सेना के अनुशासन से कम नहीं है।

मोहन भागवत ने कहा कि देश में संकट के समय स्वयंसेवक हर समय मौजूद रहते हैं। उन्होंने कहा कि जब भारत व चीन के बीच युद्ध हुआ था तो सिक्किम के तेजपुर से प्रशासन के अधिकारी डरकर भाग खड़े हुए। उस समय संघ के स्वयंसेवक सीमा पर मिलिट्री फोर्स के आने तक डटे रहे। उन्होंने कहा कि आज भी देश को जरूरत पड़े और संविधान इजाजत दे तो तीन दिनों में स्वयंसेवकों की सेना तैयार हो जाएगी। उन्होंने कहा कि स्वयंसेवकों को जब जो जिम्मेदारी मिलती है, उसे बखूबी निभाते हैं।

आम आदमी पार्टी व कांग्रेस ने की भागवत के बयान की आलोचना

कांग्रेस नेता सुष्मिाता देव ने भागवत के बयान की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि भागवत ने इस तरह का बयान देकर सेना का अपमान किया है। उन्हें अपने बयान के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए।

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने भागवत के बयान पर ट्वीट करते हुए कहा कि अगर ये बयान किसी दूसरी पार्टी के नेता ने दिया होता तो, भाजपाई अब तक उसे पाकिस्तान भेज देते। मीडिया तो फांसी की सजा की मांग कर देता, लेकिन बात भागवत की है। हम आह भी भरते हैं तो हो जाते हैं बदनाम, वो कत्ल भी करते है तो चर्चा नही होती।

loading...
शेयर करें