भय्यू जी की मौत में आया बड़ा ट्विस्ट, नए सबूत देख पुलिस सोचने को मजबूर

0

नई दिल्ली। आध्यात्मिक गुरु भय्यू जी महाराज की आत्महत्या का मामला अब और भी गहराता चला जा रहा है। मामले में अब एक नया मोड़ आ जाने से कहानी काफी पलट गई है। इस कारण पुलिस भी इस दिशा में सोचने को मजबूर है। बता दें पुलिस ने एक और सुसाइड नोट बरामद हुआ है। जो पहले मिले सुसाइड नोट से बिलकुल अलग जान पड़ता है। इन सुसाइड नोट में भय्यू जी महाराज ने अपने सेवादार विनायक को अपनी चल-अचल सम्पत्ति का मालिक बनाया है। जबकि पहले मिले सुसाइड नोट में उन्होंने अपनी परेशानी और चिंता का जिक्र किया था। बता दें भय्यूजी महाराज ने कथित तौर पर गोली मारकर आत्महत्या की थी।

पीएम मोदी ने कुमारस्वामी को दिया फिटनेस चैलेंज, मिला ये करारा…

भय्यू जी महाराजखबरों के मुताबिक़ दूसरे सुसाइड नोट में भय्यूजी ने अपनी सारी संपत्ति अपने सबसे करीबी रहे सेवादार विनायक के नाम की है।

नोट में भय्यूजी ने लिखा है कि मेरी सारी आर्थिक शक्तियां, प्रॉपर्टीज, बैंक अकाउंट्स की सारी जिम्मेदारी मेरे मरने के बाद विनायक संभालेगा।

उन्होंने लिखा- मैं विनायक पर ट्रस्ट करता हूं। इसलिए उसे ये सारी जिम्मेदारी देकर जा रहा हूं और ये मैं बिना किसी दबाव के लिख रहा हूं।

अटल बिहारी वाजपेयी की हालत में सुधार, मगर दो दिन और…

बता दें कि पहली नजर में देखने पर इस सुसाइड नोट और पुलिस को मिले पहले नोट में अंतर नजर आ रहा है।

वहीं विनायक पिछले 15 सालों से भय्यूजी महाराज की सेवा करता आया है। जब भय्यूजी महाराज ने खुद को गोली मारी थी उस समय सेवादार विनायक भी घर में मौजूद था।

बता दें कि इस सुसाइड नोट के अलावा पुलिस को भैय्यूजी की लाश के पास से रिवॉल्वर, मोबाइल, टैब, लैपटॉप, फोन सहित 7 गैजेट्स मिले थे।

इससे पहले पुलिस को भय्यूजी की पॉकेट डायरी से डेढ़ पेज का एक और सुसाइड नोट मिला था, जो अंग्रेजी में है उसमें पारिवारिक कलह का जिक्र करते हुए उन्होंने खुद को बेहद तनाव मे होना बताया है।

हालांकि उन्होंने खुद की सुसाइड के लिए किसी को दोषी नहीं बताया लेकिन शुरुआती जांच इस बात की ओर इशारा कर रही है कि 2015 में उनकी पहली पत्नी माधवी की मृत्यु हो जाने से वह अकेलापन महसुस कर रहे थे हालांकि उनकी माधवी से एक बेटी थी।

भय्यूजी महाराज की दूसरी शादी के बाद बेटी ने उनसे दूरी बना ली थी वह पुणे से बहुत कम ही घर (इंदौर) आती थी।

ऐसे में पुलिस को मिला दूसरा सुसाइड नोट कहीं न कहीं भय्यू जी महाराज की मौत पर बड़े सवाल भी खड़े करता है कि क्या वाकई में उनकी मौत एक आत्महत्या थी कि नहीं।

loading...
शेयर करें