मोदी जी… अब तो अडानी-अंबानी की चिंता छोड़कर देश के गरीबों की तरफ देखिए

0

पटना। बिहार के पूर्व सीएम और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद एक बार फिर मोदी सरकार को घेरने की तैयारी कर रहे हैं। जब से बिहार में बीजेपी की दोबारा सरकार बनी है, तब से भी लालू और उनके बेटों के तेवर काफी अलग नजर आ रहे हैं। वे पीएम मोदी पर निशाना साधने का कोई भी मौका नहीं छोड़ते हैं। एक बार फिर लालू ने बीजेपी पर हमला बोला है। लालू ने कहा कि भाजपा की उल्टी गिनती शुरू हो गई है।

राजद रैलियां आयोजित करेगा और काला दिवसमनाएगी

उन्होंने कहा कि आठ नवंबर को राज्य के सभी जिलों में नोटबंदी की पहली वर्षगांठ पर राजद रैलियां आयोजित करेगा और ‘काला दिवस’ मनाकर नोटबंदी और जीएसटी का विरोध करेगा। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने छठ पर्व की समाप्ति के बाद राजद के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं, राजद के जिला अध्यक्ष, सभी प्रकोष्ठों के अधिकारी, कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया है कि वे अभी से ही आठ नवंबर को आयोजित की जाने वाली जिलावार रैलियों की तैयारी में लग जाएं।

जिलों में रैलियां आयोजित करने का निर्णय लिया है

उन्होंने बताया कि देश की 18 राजनीतिक पार्टियों ने आपस में मिलकर आठ नवंबर को काला दिवस मनाने और जिलों में रैलियां आयोजित करने का निर्णय लिया है। उन्होंने राजद कार्यकर्ताओं से घर-घर जाकर लोगों को नोटबंदी और जीएसटी के दुष्प्रभाव से अवगत कराने की अपील की है। लालू प्रसाद ने एक बयान जारी कर कहा, नोटबंदी का आदेश देश के लिए काला कानून था। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने नोटबंदी कर लोगों को गुमराह किया।

पीएम मोदी को दी नसीहत

बताया गया कि इससे गरीबों का भला होगा और अमीरों का काला धन बाहर निकलेगा। मगर वास्तव में क्या हुआ, यह सबको पता है। गरीब, मजदूर, किसान, संगठित-असंगठित कामगार, छात्र, नौजवान यहां तक कि घरेलू महिलाओं को इस तुगलकी फरमान से यातना झेलनी पड़ी। उन्होंने कहा कि नोटबंदी से सैकड़ों कल-कारखाने बंद हो गए। हजारों हजार कामगार बेरोजगार हो गए। देश का घरेलू सकल उत्पाद का औसत लगातार गिरता जा रहा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नसीहत देते हुए कहा, आपने बहुत छलावा किया, अब तो अडानी, अंबानी की चिंता छोड़कर देश के गरीबों और नौजवानों की तरफ देखिए।

loading...
शेयर करें

आपकी राय