पहली बार भाजपा के समर्थन से विधायक बनेगा कांग्रेस प्रत्याशी…औपचारिक ऐलान का इंतजार

0

मुंबई: अभी तक सामने आए कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजों में भले ही कांग्रेस अपने गढ़ को बचाने के लिए जद्दोजहद करती नजर आ रही हो लेकिन महाराष्ट्र की इस सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार  के सामने कोई खड़े होने की हिम्मत ही नहीं कर रहा है। या यूं कहें कि इस सीट पर भाजपा-शिवसेना-एनसीपी सभी कांग्रेस उम्मीदवार के समर्थन में खड़े नजर आ रहे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, महाराष्ट्र के सांगली जिले की पालुस-कादेगांव विधानसभा सीट पर 28 मई को होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार ने निर्विरोध जीत की तरफ कदम बढ़ा दिया है। दरअसल, इस उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार के विरोध में अभी सिर्फ भाजपा के प्रत्याशी मैदान में हैं लेकिन इस उम्मीदवार ने भी का अपनी उम्मीदवारी वापस लेने का फैसला किया है।

इस सीट पर कांग्रेस के दिग्गज नेता पतंगराव कदम के बेटे विश्वजीत कदम मैदान में उतरे हैं। इस उपचुनाव में नामांकन का समय समाप्त हो चुका है जबकि नाम वापस लेने की आखिरी तारीख कल है। इस सीट पर शिवसेना और एनसीपी पहले ही कांग्रेस के उम्मीदवार विश्वजीत कदम को अपना समर्थन देने का फैसला कर अपने उम्मीदवार नहीं उतारने का फैसला कर चुके हैं। वहीं 7 निर्दलीय उम्मीदवार भी अपनी उम्मीदवारी वापस ले चुके हैं।

अब जब भाजपा उम्मीदवार ने भी अपना नामांकन वापस लेने का ऐलान कर दिया है तो कांग्रेस प्रत्याशी की निर्विरोध जीत साफ़ है। मतलब साफ़ है कि इस सीट पर अब सिर्फ औपचारिकता ही होनी है।

इस बारे में जानकारी देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत का कहना है कि अब सिर्फ कांग्रेस उम्मीदवार की जीत का सिर्फ औपचारिक ऐलान होना बाकी है। भाजपा उम्मीदवार ने भी रेस से बाहर होने का फैसला किया है, निर्दलीय उम्मीदवार पहले ही मैदान से बाहर हो चुके हैं। ऐसे में अब सिर्फ विश्वजीत कदम ही रेस में बचे हैं।

सावंत ने कहा कि शायद ऐसा पहली बार होगा कि कांग्रेस पार्टी का उम्मीदवार भाजपा और शिवसेना के समर्थन से चुनाव जीतने जा रहा है। कांग्रेस के नेताओं से इस बात से इंकार किया है कि उन्होंने भाजपा या शिवसेना से विश्वजीत कदम के लिए समर्थन मांगा था। कदम को यह जीत अपने दम पर और अपने पिता के भाजपा और शिवसेना नेताओं के साथ अच्छे संबंधों के आधार पर हासिल होगी।

आपको बता दें कि सांगली की पालुस कादेगांव सीट पर उप-चुनाव मौजूदा विधायक पतंगराव कदम के निधन के कारण आयोजित कराए जा रहे हैं। पतंगराव कदम महाराष्ट्र में शिक्षा के क्षेत्र का बड़ा नाम थे और वांगली-बिलावडी विधानसभा सीट से 6 बार विधायक चुने गए थे।

loading...
शेयर करें