आज से CBSE की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं : बच्चों की राह हुई आसान, बदले गए कई नियम

0

नई दिल्ली। CBSE की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं आज से शुरू हो गई हैं। इस साल 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं में 28 लाख से ज्यादा छात्र शामिल होंगे। 10वीं बोर्ड के लिए कुल 16,38,428 जबकि 12वीं बोर्ड के लिए 11,86,306 छात्रों ने पंजीकरण कराया है। इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने छात्रों को परीक्षा के लिए शुभकामनाएं दी हैं।

CBSE की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं

भारत में 4,138 और विदेशों में 71 केंद्रों पर आयोजित की गई है

पहले दिन 10वीं के छात्र वोकेशनल विषय तो 12वीं के विद्यार्थी अंग्रेजी विषय की परीक्षा देंगे। 10वीं बोर्ड की परीक्षा भारत में 4,453 और देश से बाहर 78 केंद्रों पर आयोजित की गई है। इसी तरह 12वीं बोर्ड की परीक्षा भारत में 4,138 और विदेशों में 71 केंद्रों पर आयोजित की गई है।

इस बार दसवीं के लिए क़रीब 16.5 लाख उम्मीदवार परीक्षा दे रहे हैं

बोर्ड के अधिकारियों ने बताया है कि इस बार दसवीं के लिए क़रीब 16.5 लाख उम्मीदवार परीक्षा दे रहे हैं, जबकि 12वीं की क़रीब पौने बारह लाख उम्मीदवार परीक्षा दे रहे हैं। 7 साल बाद सीबीएसई के 10वीं के छात्र बोर्ड परीक्षा में बैठेंगे। इससे पहले इवेल्युएशन सिस्टम से परीक्षा हो रही थी। सीबीएसई की तरफ से इस साल कई नियमों में अहम बदलाव किए गए हैं। मसलन, 2009 में अपनाई गई व्यापक एवं सतत मूल्यांकन (CCE) को इस साल CBSE ने हटाने का फैसला किया।

सीबीएसई ने दी विशेष सुविधा

परीक्षा के दौरान अगर विद्यार्थी आकस्मिक रूप से बीमार हो जाते हैं तो ऐसी स्थिति में उन्हें प्रश्न पत्र हल करने के लिए स्क्राइब (लिपिक) की सुविधा मिलेगी। इस सुविधा का लाभ प्राप्त करने के लिए आकस्मिक रूप से बीमार विद्यार्थी को असिस्टेंट सर्जन स्तर के चिकित्सा अधिकारी की तरफ से जारी मेडिकल सर्टिफिकेट प्रस्तुत करना होगा। इसके बाद वे जूनियर विद्यार्थी का स्क्राइब के तौर पर प्रयोग कर सकेंगे।

loading...
शेयर करें