सीएम रावत का निर्देश, भव्‍य तरीके से हो केदारनाथ मंदिर का पुनर्निर्माण

0

देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्य इन दिनों काफी तेजी से चल रहा है। वहीं राज्‍य सरकार इस कार्य के त‍हत गंभीरता बनायी हुई है। ऐसे में अब सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी बीते दिनों सचिवालय में केदारनाथ धाम पुनर्निर्माण योजना का प्रस्तुतीकरण दे दिया है।

यह भी पढें : राज्‍य में बदला मौसम का मिजाज, बारिश और बर्फबारी ने बढ़ाई कड़ाके की ठंड

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत

बता दें कि केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्य में केदारपुरी को छह जोन में बांटकर यात्री सुविधाओं, अवस्थापना, स्थानीय तीर्थ पुरोहितों की व्यवस्था आदि को लेकर व्यापक कार्ययोजना तैयार की गई है। शुरूआती योजना के तहत 20 हजार की फ्लोटिंग और पांच हजार स्थायी जनसंख्या की सुविधा व सुरक्षा को ध्यान में रखकर बनाई जा रही है।

सीएम रावत ने कहा है कि एक बार फिर केदारनाथ नगरी को भव्यतम स्वरूप से स्‍थापित रखने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। वहीं केदारपुरी के पुनर्निर्माण के मॉडल प्लान के प्रस्तुतीकरण में बताया गया कि विद्युत, पेयजल, संचार व सीवर लाइनों समेत सभी अवसंरचनाएं भूमिगत डक्ट में स्थापित की जाएंगी। सीवरेज लाइनें सेंट्रल एक्सेस (मुख्य मार्ग) में नहीं होंगी, बल्कि धाम की बाहरी परिधि से होते हुए सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट तक जाएंगी। प्रस्तुतीकरण के अनुसार इस प्लान को सिंचाई, पेयजल, विद्युत, पर्यटन, संचार समेत संबंधित विभाग भी अपने दृष्टिकोण से देखकर फीडबैक देंगे।

दूसरी तरफ सीएम रावत ने भी कहा है कि केदारनाथ मंदिर को दोबारा अच्‍छा बनाए जाने में कोई कसर बाकी नहीं बचनी चाहिए। इसके सा‍थ ही मंदिर और आसपास का माहौल ऐसा होना चाहिए कि यहां दर्शन के लिए आने वाले सभी तीर्थयात्रियों को सबसे अच्‍छा अनुभव मिल सके। साथ ही सभी यात्रियों की सुविधा का भी खास ख्‍याल रखा जाए इसके लिए पूर्ण इंतजाम होने चाहिए।

loading...
शेयर करें

आपकी राय