कभी कहा था ‘गुलामी की मीनार’ आज करेंगे उसी का दीदार, सीएम योगी क्या कहेंगे- वाह ताज !

0

आगरा। दुनिया के सात अजूबों में से एक ताज महल को लेकर बीते कई दिनों से घमासान जारी है। कोई इसे मुगलों की धरोहर मान रहा है तो कोई इसे देश की संस्कृति से जोड़ रहा है। इन्हीं सब के बीच यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ आज आगरा जाकर ताज महल का दीदार करेंगे। वैसे एक वक्त था जब योगी जी ने भी ताज महल के खिलाफ काफी बयान दिए थे, ऐसे में आज उनको ताज महल का दीदार करते हुए देखना काफी दिलचस्प होगा।

खबरों के मुताबिक, सीएम योगी आगरा पहुंच गए हैं और कुछ ही देर में वो ताज महल के दर्शन के लिए जाएंगे। वहां वो करीब आधे घंटे का समय बिताएंगे। ताजमहल के परिसर में प्रवेश ये पहले योगी ताजमहल के पश्चिमी द्वार के पास बनी पार्किंग में झाड़ू लगाकर स्वच्छ भारत अभियान का संदेश देंगे। झाड़ू लगाने के बाद सीएम योगी शाहजहां पार्क का दौरा करेंगे और शाहजहां पार्क में पर्यटकों के लिए वॉक वे का भी शिलान्यास करेंगे। इसके बाद योगी ताजमहल परिसर में प्रवेश करेंगे और ताजमहल का मुआयना करेंगे।

मुख्यमंत्री होटल ताजखेमा में चित्रकारी प्रतियोगिता के विजेता बच्चों को पुरस्कृत करेंगे और स्विस कॉटेज का शिलान्यास करेंगे। इसके बाद ताजमहल के पास मुगल म्यूजियम का निरीक्षण करेंगे। मुख्यमंत्री का कलाकृति प्रेक्षागृह में ‘मुहब्बत द ताज’ का शो देखने का कार्यक्रम है। शाम को करीब 04.20 बजे खेरिया एयरपोर्ट से लखनऊ के लिए प्रस्थान कर जाएंगे।

बता दें, बीते दिनों बीजेपी के चर्चित विधायक संगीत सोम, ताजमहल विवाद में कूद पड़े। संगीत सोम ने ताजमहल को गुलामी की निशानी बताया लेकिन वे ये बात भूल गए कि ताजमहल को बनाने वाले मुगल बादशाह शाहजहां ने ही दिल्ली का लालकिला भी बनवाया था. हर साल देश के प्रधानमंत्री यहीं से तिरंगा फहराते हैं।

जब योगी यूपी के सीएम नहीं बने थे तो उन्होंने बिहार के दरभंगा में भाषण दिया था जिसमें उन्होंने कहा था, “ मुझे बड़ी खुशी होती है जब हमारे प्रधानमंत्री विदेश जाते हैं तो राष्ट्राध्यक्षों को गीता और रामायण भेंट करते हैं, पहले तो ताजमहल या फिर कोई मीनार के मॉडल जैसी कोई वस्तु भेंट करते थे।”  वे यहीं नहीं रुके, सीएम योगी ने कहा ताजमहल भारतीय संस्कृति का प्रतीक नहीं है। उनके इस बयान के बाद कई दिनों तक ताजमहल को लेकर बहस होती रही थी।

loading...
शेयर करें