ठंड ने दी खुशी और गम, इन फसलों को हुआ फायदा और इनपर कहर बनकर गिरी सर्दी  

0

पानीपत। सूरज के आंख मिचोली का खेल जनवरी के शुरु होने से करने लगा। यह हरकत सूरज ने उस समय की जब नये साल की शुरुआत में जबरदस्‍त ठंडक ने अपनी उपस्‍थति दर्ज कराई। लेकिन यह ठंडक कई किसानों के लिए रामबाण साबित हो रही है। इसमें वे किसान सबसे आगे है जो सेब कि फसल उगाते हैं। वहीं कुछ ऐसे भी किसान है जिनके लिए यह दुख देती है।

जानकारों के द्वारा कहा जा रहा है कि इस बार कि धुंध के साथ पड़ने वाली यह ठंड धुंध गेहूँ की फसल के लिए सोने पर सुहागा साबित होने वाली है। अगर इसके साथ बारिश भी होती है तो भी गेंहू को बहुत ही फायदा होगा। लेकिन अगर यह पाला अधिक दिनों तक जारी रहता है तो सब्जी व सरसो को बहुत ही नुकशान पहुंचायेगा।

वहीं इस बार पड़ने वाली ठंडक पर एक कृषि विभाग के अधिकारी का कहना है कि यह धुंध मौसम बदलने से आसमान में छाई हुई है। इसी कारण तापमान में गिरवाट आई है। जो गेंहू और सेब के फसलों के लिए बहुत ही उपयोगी होगी। वहीं सरसो और अरहर को तोड़ा बहुत नुकशान पहुंचायेगा।

loading...
शेयर करें