हिन्दू युवक की हत्या के बाद कई मुस्लिम परिवारों को छोड़नी पड़ी देवभूमि, धारा 144 लागू

0

हरिद्वार: उत्तराखंड का हरिद्वार जिला इस समय सांप्रदायिक हिंसा की जद है। हरिद्वार-ऋषिकेश के बीच में कई इलाके हिंसक घटनाओं और आगजनी की जद में है। इन घटनाओं की वजह प्यार की वो कहानी है जिसमें एक 32 वर्षीय युवक को 19 साल की मुस्लिम लड़की से प्यार करने का हर्जाना अपनी जान देकर चुकानी पड़ी है। इस घटना के बाद से क्षेत्र में दहशत का माहौल फैला हुआ है। यहां तक कि गांव के 17 मुस्लिम परिवारों को अपना घर छोड़कर भी भागना पड़ा है।

मिली जानकारी के अनुसार, यह घटना हरिद्वार के निकट स्थित मुर्गी फार्म क्षेत्र की है। यहां रहने वाली एक लड़की लक्षमण सिंह कालुरा से प्रेम करती थी। लेकिन लड़की के पिता को यह रिश्ता बिल्कुल भी पसंद नहीं था। लक्ष्मण टिहरी फ़ार्म गांव का रहने वाला था। वह बीते तीन अक्टूबर को मुर्गी फ़ार्म अपनी प्रेमिका ने मिलने आया था।

अगली स्लाइड में पढ़ें: मुस्लिम समुदाय को भुगतनी पड़ी एक की करतूत  

बताया जा रहा है कि यहां लक्ष्मण और लड़की के पिता में तीखी बहस भी हुई थी। उसी रात लक्ष्मण का शव रेलवाला थाना क्षेत्र में रेलवे ट्रैक के पास पड़ा मिला था। शव के दोनों पैर कटे हुए थे। लक्ष्मण की हत्या के आरोप में लड़की के पिता और भाई को गिरफ्तार कर लिया गया है।

यहां लोगों ने मुस्लिम समुदाय के खिलाफ आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया। उपद्रवियों ने रेलवाला से करीब 15 किलोमीटर दूर कनखल में मुस्लिमों की चार दुकानों को आग के हवाले कर दिया। उसी दिन रेलवाला से 13 किलोमीटर दूर ऋषिकेश में भी मुस्लिम की एक अस्थाई दुकान और बैलगाड़ी को उपद्रवियों ने आग लगा दी।

आगे पढ़ें: सोशल मीडिया पर ये मैसेज वायरल होने के बाद मचा तांडव 

यह उपद्रव सोशल मीडिया पर वायरल हुए उस सन्देश के बाद फैला जिसमें एक हिन्दू युवक की हत्या की बात कही जा रही थी।

रेलवाला एसएचओ ने बताया है कि यह संदेश फर्जी था, ताकि इलाके में उपद्रव फैलाया जा सके। हालांकि अभी भी क्षेत्र में तनाव की स्थिति बनी हुई है। प्रशासन ने वहां एक सप्ताह पहले ही धारा 144 लगा दिया है।

 

 

 

loading...
शेयर करें

आपकी राय