चित्रकूट उपचुनाव : मध्य प्रदेश में बीजेपी की सबसे बड़ी हार, कांग्रेस ने दर्ज की रिकॉर्डतोड़ जीत

0

भोपाल। बीते दिनों मध्य प्रदेश की चित्रकूट विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए वोटिंग हुई थी। आज रविवार को उनचुनाव की मतगणना पुरी हो चुकी है और चुनाव के नतीजे घोषित हो गए हैं। इस उपचुनाव में 12 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहें थे, हालांकि मुकाबला कांग्रेस और बीजेपी के उम्मीदवारों के बीच ही माना जा रहा था। लेकिन कांग्रेस ने यहां एकतरफा जीत हासिल कर बीजेपी का सूपड़ा साफ कर दिया है। कांग्रेस उमीदवार नीलांशु चतुर्वेदी 14333 वोटों से जीते।

यह भी पढ़ें : चुनाव से पहले मोदी को बड़ा झटका, बीजेपी सांसद ने कहा – भाजपा प्रत्याशी को जीतने नहीं दूंगा

सीएम शिवराज की मेहनत पर फिर गया पानी

चित्रकूट विधानसभा के लिए हुए उप-चुनाव में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सारी कोशिशों पर पानी फिर गया है। बता दें इस चुनाव के लिए बीजेपी का काफी मेहनत की थी, खासतौर पर सीएम शिवराज ने तो दिन रात एक कर दिया था। भाजपा पहले चरण में 527 वोटों के साथ आगे चल रही थी। लेकिन उसके बाद से ही लगातार कांग्रेस बढ़त बनाए हुए है। इस दौरान दो एवीएम मशीन के खराब होने की बात सामने आई थी। जिसके बाद दूसरे चरण के मतदान की गणना शुरू करने पर कांग्रेस ने आपत्ति ली थी। इसके बाद जिला निर्वाचन अधिकारी के हस्‍तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ। मुख्य मुकाबला कांग्रेस के नीलांशु चतुर्वेदी और भाजपा के शंकर दयाल त्रिपाठी के बीच था।

यह भी पढ़ें : गुजरात चुनाव से ठीक पहले वायरल हुआ पीएम मोदी का ये वीडियो, देखिए किस तरह मांग रहे लोगों से वोट

नतीजों से पहले ही बीजेपी ने मान ली थी हार

प्रदेश के भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने हार स्वीकारते हुए कहा कि नतीजों की समीक्षा होगी। राजधानी में मीडिया से बातचीत में भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस को परंपरागत सीट होने का फायदा मिला है। साथ ही भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि वे जनादेश स्वीकार करते हैं और उम्मीदवार के चयन में गलती होने की बात पर भाजपा अध्यक्ष ने सीधे तौर पर जवाब देने की बजाए कहा कि नतीजों की समीक्षा होगी।

कांग्रेस विधायक के निधन के कारण हुए उपचुनाव  

14वें दौर की मतगणना पूरी होने के बाद कांग्रेस ने भाजपा पर 16,082 वोटों की मजबूत बढ़त बना ली थी। सातवें दौरे के बाद कांग्रेस उम्मीदवार नीलांशु चतुर्वेदी अपने निकटतम उम्मीदवार भाजपा के शंकर दयाल त्रिपाठी से 15,000 मतों से आगे चल रहे थे। वहीं चौथे दौर की मतगणना के बाद कांग्रेस उम्‍मीदवार 8000 वोटों से आगे थे। आपको बता दें कि कांग्रेस विधायक प्रेम सिंह (65) का इस साल 29 मई को निधन होने के कारण यह सीट खाली हुई है।

 

चुनाव नतीजों की कुछ मुख्य बातें –

  • 13वें राउंड तक नीलांशु चतुर्वेदी बीजेपी के शंकर दयाल से 17,143 वोटों से आगे चल रहे थे। 14वें राउंड में बीजेपी ने थोड़ी बढ़त ली और जीत के अंतर को 16,608 वोट कर लिया।
  • कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जश्‍न मनाना भी शुरू कर दिया है। एएनआई ने एमपी कांग्रेस कमेटी के बाहर ढोल-नगाड़े लेकर नाचते कांग्रेसियों की तस्‍वीरें जारी की हैं।
  • 12वें राउंड की गिनती के बाद कांग्रेस के नीलांशु चतुर्वेदी ने निर्णायक बढ़त बना ली है। वो 25,231 वोट से आगे चल रहे हैं।
  • 9वें राउंड के बाद कांग्रेस उम्मीदवार 17765 वोटों से आगे थे।
  • सातवें राउंड की गिनती में बीजेपी को 2344 और कांग्रेस को 5076 वोट मिले थे।
  • छठे राउंड के वोटों की गिनती में बीजेपी को 2526 और कांग्रेस को 4515 वोट मिले थे।
  • पांचवें राउंड की मतगणना में बीजेपी को 2228 और कांग्रेस को 4270 वोट मिले थे।
  • चौथे राउंड की मतगणना में बीजेपी को 1919 और कांग्रेस को 4350 वोट मिले थे।
  • तीसरे राउंड की मतगणना में बीजेपी को 1855 और कांग्रेस को 4438 वोट मिले थे।
  • दूसरे राउंड की गिनती में कांग्रेस को 5255 और बीजेपी को को 1727 मत मिले थे।
  • कांग्रेस के प्रत्याशी नीलांशु चतुर्वेदी बीजेपी से काफी आगे चल रहे हैं।
  • भाजपा पहले चरण में 527 वोटों के साथ आगे चल रही थी। लेकिन बाद में वह पिछड़ती चली गई।

loading...
शेयर करें

आपकी राय