वाह रे लखनऊ पुलिस, मामला सुलझाने के बजाय विभूति खंड एसओ दे रहे बदला लेने की सलाह

0

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भले ही सूबे की क़ानून व्यवस्था के सुचारू रूप से चलने का दावा कर रहे हो लेकिन हकीकत इसके बिल्कुल विपरीत है। ताजा मामला राजधानी लखनऊ के विभूतिखंड थाने से सामने आया है, जहां थाना इंचार्ज सत्येन्द्र राय ने मारपीट के एक मामले में कुछ ऐसा बयान दिया जिसे सुनकर कोई भी स्तब्ध रह जाएगा।

दरअसल, बीते दिनों वास्तुखंड में रहने वाले रवि शुक्ल के साथ चिनहट की ओर रहने वाले साहब खालिद नाम के एक लड़के ने मारपीट की थी। इस दौरान साबह खालिद के साथ कुछ अन्य लोग भी मौजूद थे। इस मारपीट में रवि शुक्ल को कुछ अंदरूनी चोटें भी आ गई थी।

जब रवि इस मामले की शिकायत करने विभूति खंड थाना पहुंचा तो वहां थाना इंचार्ज सत्येन्द्र राय ने मामला दर्ज करने के बजाय बदला लेने की बात कही। सत्येन्द्र राय ने रवि को समझाते हुए कहा कि उसने तुमको मारा अब कभी वो मिल जाए तो तुम फिर उसको मार देना।

एक थाना इंचार्ज द्वारा दिया गया यह बयान कहीं न कहीं अपराध को बढ़ावा देने वाला है। अगर ऐसे ही रवि और साहब एक दूसरे से बराबर बदला लेते रहे तो किसी दिन कोई बड़ी अप्रिय घटना भी हो सकती है।

सबसे बड़ी बात है कि लोग अगर ऐसे ही एक दूसरे से बदला लेते रहे तो फिर जगह जगह बने इन पुलिस थानों की जरूरत ही क्या है। संविधान में लिखी उन धाराओं की जरूरत क्या है जो लोगों की मदद के लिए बनाए गए हैं।

loading...
शेयर करें

आपकी राय