भ्रष्ट एएसआई पर चला प्रशासन का चाबुक, रिश्वत लेते रंगे हाथों हुआ गिरफ्तार

0

पटना| देश में फैली भ्रष्टाचार की जड़ों से सुशासन बाबू (नीतीश कुमार) का बिहार भी अछूता नहीं रह गया है। बिहार से समय-समय पर भ्रष्टाचार के मामले सामने आते रहे हैं। इसी बीच भ्रष्टाचार में लिप्त एक पुलिस अधिकारी बिहार निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के हत्थे चढ़ा है। निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की एक टीम बुधवार को सुपौल जिले के त्रिवेणीगंज थाना में पदास्थापित सहायक अवर निरीक्षक (एएसआई) भगवान ठाकुर को 20 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।

रिश्वत

ब्यूरो के एक अधिकारी ने यहां बताया कि त्रिवेणीगंज थाना के लगुनियां गांव निवासी सिन्टु यादव ने निगरानी अन्वेषण ब्यूरो में शिकायत दर्ज कराई थी कि कि भगवान ठाकुर एक मामले में आरोपी की गिरफ्तारी एवं केस डायरी में मदद करने के एवज में 20 हजार रुपये रिश्वत की मांग कर रहे हैं।

ब्यूरो द्वारा मामले को सत्यापित करवाने के क्रम में मामले को सही पाया और फिर पुलिस उपाधीक्षक मोहम्मद जमीरउद्दीन के नेतृत्व में एक दल का गठन किया गया।

अधिकारी ने बताया कि तय समय के अनुसार बुधवार को त्रिवेणीगंज थाना के मुख्यद्वार पर सिन्टु जैसे ही एएसआई को बतौर रिश्वत 20 हजार रुपये दे रहा था, धावा दल ने कार्रवाई करते हुए एएसआई को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। आरोपी एएसआई से पूछताछ की जा रही है।

loading...
शेयर करें