इलाहाबद: दलित छात्र की हत्या का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

0

इलाहाबाद। हाल ही में इलाहाबाद में दलित छात्र दिलीप कुमार सरोज की निर्मम हत्या के मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने मुख्य आरोपी टीटीई विजय शंकर सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। विजय शंकर हादसे के बाद फरार चल रहे थे। इससे पहले रेलवे ने भी विजय शंकर सिंह को निलंबित करते हुए जांच बैठा दी है।

दिलीप कुमार सरोज

बता दें दलित छात्र की हत्या की गूँज विधानसभा में गूंजी। जिसके जवाब में सरकार ने भी दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही थी। एडीजी इलाहाबाद जोन एसएनसाबत ने विजय शंकर सिंह की गिरफ़्तारी की पुष्टि की है।

क्या था मामला 

घटना शहर के कर्नलगंज इलाके की है। यहां दिलीप सरोज नाम के एक दलित छात्र की कुछ लोगों से सिर्फ मामूली सी कहासुनी हुयी। जिसके बाद दबंगों ने रॉड और ईंट से पीट-पीट कर उसकी हत्या कर दी। पूरी घटना सीसीटीवी में हो गयी। बताया जा रहा है कि इलाहाबाद डिग्री कॉलेज से कानून की पढ़ाई करने वाला दिलीप सरोज अपने तीन साथियों के साथ कर्नलगंज इलाके के कालिका होटल में खाना खाने आया था।

इसी बीच कालिका होटल एक वेटर मुन्ना सिंह ने बीच बचाव के दौरान दिलीप सरोज के सिर पर लोहे की रॉड मार दी। इस चोट की वजह से दिलीप वहीँ बेहोश होकर गिर गया। लेकिन वहां मौजूद आरोपी पेशे से टीटीई मुख्य आरोपी विजय शंकर सिंह यही नहीं रुका। वहां बेहोश पड़े दिलीप को बाहर लेकर गए और लोहे की रॉड और ईंट से एक के बाद एक कई हमले किए। इसके बड़ा वो वहां से भाग गए।

उसके बाद दलित छात्र को अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। पुलिस ने मामले कि कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इसमें वेटर मुन्ना सिंह और दूसरा होटल का मालिक अमित उपाध्याय शामिल हैं।

सीएम ने दी सहायता राशि 

वहीं दिलीप कुमार सरोज की निर्मम हत्या पर दुख जताते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने मृत छात्र के परिजनों को 20 लाख रुपये देने की घोषणा की है। सूबे के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने मृतक छात्र के परिजनों से मुलाक़ात कर उन्हें 24. 12 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी।

loading...
शेयर करें