कबूतरबाजी में फंसा विजिलेंस इंस्पेक्टर, अन्य आरोपी भी हुए गिरफ्तार

0

नई दिल्ली: पश्चिमी दिल्ली विजिलेंस का एक निरीक्षक पर लूट और धोखाधड़ी का आरोप लगा है। इस निरीक्षक के साथ तीन ट्रेवेल एजेंट भी गिरफ्तार किये गए हैं जिनकी मदद से निरीक्षक व उसके साथियों ने लूट की घटना को अंजाम दिया था। मामले में संलिप्त एक उप निरिक्षक और अन्य लोगों की भी तलाश है। हालांकि ये अभी पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, विजिलेंस के निरीक्षक धर्मेंद्र डांगी पर आरोप है कि उन्होंने ट्रेवेल एजेंटों की मदद से अपने साथियों के साथ मिलकर पश्चिम विहार इलाके में पंजाब के एक शख्स के साथ 15 लाख रुपये की लूट की घटना को अंजाम दिया था। इस शख्स विदेश जाने के लिए ट्रेवेल एजेंट से बात की थी। उन्होंने ही शख्स को 15 लाख रुपये से साथ पश्चिम विहार इलाके में बुलाया था।

पीड़ित शख्स ने 28 मार्च को पश्चिम विहार थाने में शिकायत दर्ज कराते हुए बताया था कि बीते दिनों उसने विदेश जाने के लिए ट्रेवेल एजेंट से फोन पर संपर्क किया था। इन ट्रेवेल एजेंटों ने शख्स को दिल्ली के पश्चिम विहार इलाके के 15 लाख रूपये से साथ आने के लिए कहा था। इन दोनों के बीच एक होटल के पास मिलने की बात तय हुई थी।

जब शख्स इन रुपयों के साथ होटल के पास ट्रेवेल एजेंट का इंतजार कर रही थी। धर्मेंद्र डांगी 4-5 पुलिस वालों के साथ वहां पहुंच गया और शख्स से रुपयों के बार में पूछताछ करने लगा। आरोपी निरीक्षक ने  खुद को क्राइम ब्रांच वाला बताकर पीड़ित से 15 लाख रुपये ले लिए और वहां से भाग गए।

इस बाद पीड़ित शख्स ने इस मामले में पश्चिम विहार थाने में मुकदमा दर्ज हुआ। इस मामले की जांच करते हुए पुलिस धर्मेंद्र डांगी को गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि, मौका-ए-वारदात पर आरोपी निरीक्षक के साथ मौजूद उप-निरीक्षक अभी भी पुलिस की गिरफ्त दूर है। दिल्ली पुलिस अन्य आरोपियों की पहचान में लगी है। इस मामले में तीन ट्रेवल एजेंट भी गिरफ्तार किए गए हैं। ये पुलिस वाले मिलकर 9 से 10 वारदात अंजाम दे चुके हैं।

loading...
शेयर करें