गुजरात में मिला डायनासोर का अंडा

0

महीसागर। डायनासोर का नाम लेते ही आपके दिमाग में एक खूंखार और खतरनाक विशालकाय जीव की तस्वीर सामने आती होगी। लेकिन उसे देखा किसी ने नहीं होगा। इसी बीच गुजरात के माहीसागर जिले में डायनासोर का अंडा मिला है। स्थानीय लोगों ने सबसे पहले इस अंडे को देखा। लोगों का दावा है कि मवाडा गांव से करीब 10 किलोमीटर दूर डायनासोर का एक दूसरा अंडा मिला है।

खबर के मुताबिक शनिवार गांव में एक जगह खुदाई के दौरान डायनासोर का अंडा मिला था। डायनासोर के यह अंडे गांव ही बल्कि जिले में सुर्खियों की वजह बने हुए हैं। स्थानीय लोगों ने बताया कि गांव में घर बनाने के लिए खुदाई चल रही थी। तभी जमीन में एक गोलाकार पत्थर का टुकड़ा दिखा। गांव वालों को शक हुआ कि यह पत्थर नहीं कोई और चीज है। जब उसे बाहर निकाला गया तो पता लगा कि यह डायनासोर का अंडा है।

खबर फैसने के बाद राययोली जीवाश्म पार्क के संरक्षण के वकील आलिया सुल्ताना बाबी ने नई खोज का भंडार लेने के लिए साइट का दौरा किया। उन्होंने कहा कि घर की नींव की खुदाई के दौरान यह अंडा पाया गया है। मजदूरों ने इसे देखा है। सुल्ताना बाबी डायनासोर के अंडों के संरक्षण के लिए जीएसआई, राज्य पर्यटन विभाग के साथ मिलकर काम करती हैं।

डायनासोर के बारे में जानिए –

वैज्ञानिकों की मानें तो, आज से 23 करोड़ साल पहले डायनासोर का जन्म हुआ और आज से 6.5 करोड़ साल पहले आखिरी डायनासोर की मौत हुई थी। वैज्ञानिकों का मानना है कि डायनासोर धरती पर 16 करोड़ साल तक रहे। इंसानों का अब तक का जीवन इसका केवल 0.1% है। उस समय धरती पर इनकी लगभग 2468 प्रजातियां रहती थी और इनमें से कुछ उड़ती भी थी।

loading...
शेयर करें