एजुकेशन टूरिज़म में मिलेगा स्टडी के साथ फन का भी मजा, बन रहा न्यू ट्रेंड

0

नई दिल्ली। आजकल किताबी पढ़ाई से ज्यादा प्रैक्टिकल नॉलेज पर ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है। इस प्रक्टिकल नॉलेज के तहत बच्चों को घुमने और सिखने का मौका दिया जाता है। पहले तो इंस्टीट्यूटस ऐसे ट्रिप्स केवल इंडिया में ही रखते थे लेकिन अब इसमें विदेश ट्रिप भी शामिल होने लगे हैं। पढ़ाई के साथ-साथ फन ऐक्टिविटीज और विदेश का दौरा बच्चों को काफी पसंद आ रहा है।

इन दिनों भारत में एजुकेशन पैटर्न बदल रहा है। किताबों से ज्यादा बच्चों को प्रैक्टिकल तरीके से समझाने पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है ताकि बच्चों बिना किसी बोरियत के अपनी पढाई को अच्छे से सिख सके। इसी का हिस्सा बन गया है एजुकेशन टूरिजम, जिसमें बच्चों को विदेश घुमाने के लिए ले जाने का ट्रेंड तेजी से बढ़ रहा है।

एजुकेशन पैकेज 

पढ़ाई के इस नए पैटर्न को अपने फायदे के लिए इस्तेमाल करने के लिए टूर कंपनियों ने खास एजुकेशन पैकेज तैयार किये हैं। जिससे आप बड़ी आसानी से इस टूर के लिए लों ले सकते हैं।

खास पैकेज

टूर कंपनियों का ये पैकेज कस्टमाइज्ड हैं। ये सारे पॅकेज स्कूल और उनके करिक्युलम एक्टिविटी के हिसाब से बनाए गए हैं। ये कंपनिया सब्जेक्ट और स्कूल के हिसाब से पैकेज तैयार करती हैं। जैसे आपका बच्चा अगर फिजिक्स का स्टूडेंट है तो उसके लिए नासा टूर और हिस्ट्री के स्टूडेंट्स के लिए साउथ अफ्रीका जैसी जगहों को पंसद किया जा रहा है।

इसका चलन यूरोप में काफी पॉप्युलर है

ऐक्टिविटीज और टूर के जरिए पढाई को समझने के लिए इसका ट्रेंड यूरोप में काफी पॉप्युलर है। हालाँकि भारत में इसका चलन अब शुरू हो रहा है। इसकी ख़ास बाते ये है कि स्टूडेंट्स पढाई के साथ-साथ हर चीज को प्रैक्टिकल के जरिए बारीकी से समझ जाते हैं।   इस तरह की ट्रिप बच्चे इंजॉय भी खूब करते हैं।

 

loading...
शेयर करें