शिक्षण संस्थानों को अपने संसाधनों का बेहतर इस्तेमाल करना चाहिए

0

लखनऊ| बाबा भीम राव अंबेडकर विश्वविद्यालय (बीबीएयू) में पंडित दीनदयाल स्मृति उपवन और बायोटेक्नोलजी ब्लॉक का उद्धघाटन करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाबा साहेब द्वारा शिक्षा के प्रति दिए गए योगदान को याद किया।  अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा कि  डॉ. भीम राव अंबेडकर ने शिक्षा क्षेत्र में बड़ा योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि हमारे विश्वविद्यालय केवल डिग्री बांटने का साधन बन कर रह जाते हैं। विश्वविद्यलयों को इससे आगे आना होगा।

उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों में मौजूद लैब का ठीक से इस्तेमाल होना चाहिए, जो सरकार के काम में मदद कर सकती है। इससे विश्वविद्यलयों को आर्थिक लाभ भी मिलेगा। सरकारी योजनाओं में पड़ने वाले डाके को डिजिटल इंडिया से रोका जा सकता है। ऐसा करने से सिस्टम पारदर्शी बनेगा।

आदित्यनाथ ने कहा कि समाज की जरूरतों के बारे में शिक्षण संस्थाओं को सोचना चाहिए। उन्होंने कहा कि हर जरूरत के लिए सिर्फ सरकार की तरफ नहीं देखना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थानों को अपने संसाधनों का बेहतर इस्तेमाल करना चाहिए। इससे छात्रों को भी लाभ मिलेगा।

loading...
शेयर करें