स्‍पोर्ट्स कार के साथ अंतरिक्ष में भेजा गया दुनिया का सबसे ताकतवर रॉकेट

0

फ्लोरिडा। अमेरिका की कंपनी ‘स्पेसएक्स’ ने दुनिया के सबसे ताकतवर रॉकेट को सफलतापूर्वक अंतरिक्ष में भेजकर इतिहास रच दिया। ‘फाल्कन हेवी’ नाम के इस रॉकेट को फ्लोरिडा के केनेडी स्पेस सेंटर से लॉन्च किया गया। मंगल पर मानव बस्‍ती बसाने की मस्‍क की महत्‍वाकांक्षी योजना की दिशा में यह पहला महत्‍वपूर्ण कदम है। बता दें कि इसी स्पेस सेंटर से सबसे पहले ‘मून मिशन’ की भी शुरुआत की गई थी।

फ़ॉल्कन हेवीके टैंक में एक टेस्ला कार रखी गई है

‘फ़ॉल्कन हेवी’ के टैंक में एक टेस्ला कार रखी गई है। ये गाड़ी अंतरिक्ष की कक्षा में पहुंचने वाली पहली कार होगी। ये रॉकेट कैनेडी सेंटर के उसी LC-39A प्लेटफ़ॉर्म से लॉन्च किया गया है जहां से अपोलो मिशन रवाना हुआ था। चंद्रमा पर मनुष्य के पहुंचने की घटना के बाद ये वो घड़ी थी जिसका पूरी दुनिया में इंतज़ार किया जा रहा था। फाल्कन हेवी रॉकेट का वजन लगभग 63.8 टन है, जो लगभग दो स्पेस शटल के वजन के बराबर है।

इस रॉकेट की लंबाई 230 फुट है

फाल्कन हेवी रॉकेट में 27 मर्लिन इंजन लगे हैं और इसकी लंबाई 230 फुट है। इसे रॉकेट को किसी 23 मंजिला इमारत के बराबर माना जा सकता है। फॉल्‍कन हैवी को फ्लोरिडा के कैनेडी अंतरिक्ष केंद्र से भारतीय समयानुसार मंगलवार देर रात 2 बजकर 25 मिनट पर लॉन्‍च किया गया और स्‍पेसएक्‍स ने इस पूरी प्रकिया का लाइव प्रसारण किया। इसको लेकर लोगों में जबरदस्‍त उत्‍साह देखने को मिला।

इससे नासा को भी मदद मिल सकती है

यह रॉकेट सेटरन 5 के बाद सबसे ज्यादा लोड लेकर जाने वाला रॉकेट होगा। ऐसा पहली बार है कि किसी प्राइवेट कंपनी ने बिना किसी सरकारी मदद के इतना बड़ा रॉकेट बना दिया। अगर यह सफल रहा तो आने वाले वक्त में स्पेसएक्स एयरफोर्स की सेटलाइट्स को अंतरिक्ष तक पहुंचाने में मदद कर सकता है जो कि फॉल्कन 9 के लिए भारी होती हैं। इससे नासा को भी मदद मिल सकती है।

loading...
शेयर करें