अब कंप्‍यूटर के सामने दर्ज होगी FIR, नहीं होगी कोई गड़बड़ी

0

भोपाल। मध्‍य प्रदेश की पुलिस हाईटेक जमाने को अपना रही है। जिसके चलते थाने में कम्प्यूटर के सामने बैठकर फरियादी बोलकर अपना रिपार्ट दर्ज करा सकते है। जिससे अब किसी भी फरियादी को पुलिसकर्मी की टाइपिंग स्पीड से परेशान नहीं होना पड़ेगा।

टाइपिंग स्‍पीड जैसी समस्‍या से पीछा छ़ड़ाने के लिए पुलिस गूगल और माइक्रोसॉफ्ट की भाति अपना खुद का ‘स्पीच टू टेक्स्ट’ ऐप डेवलप कर रही है। थाने में बैठा पुलिसकर्मी कम्प्यूटर के सामने पीड़ित की फरियाद बोलते जाएंगे और कुछ मिनट में ही उसका प्रिंट भी मिल जाएगा। साथ ही उनकी रिपोर्ट भी दर्ज हो जायेगी।

यह भी पढ़े- लड़का करता था बेहद प्‍यार, लड़की ने की आत्‍महत्‍या

बता दें की इस भारतीय पुलिस सेवा के 2013 बैच के दो अधिकारी सूरज वर्मा और हितेष चौधरी स्पीच टू टेक्स्ट टेक्नोलॉजी पर काम कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मन की बात’ प्रोग्राम को करने वाली भारतीय सॉफ्टवेयर कंपनी ‘लिव डॉट एआई’ के माध्यम से मप्र पुलिस के लिए यह टेक्नोलॉजी लाने का प्रयास हो रहा है।

loading...
शेयर करें

आपकी राय