फ्लश टॉयलेट से लेकर शतरंज तक, भारत में हुए ये आविष्कार

0

नई दिल्ली। अक्सर हम विदेशी तकनीक का गुणगान करते हैं, मेड इन इंडिया से ज्यादा मेड इन चाइना या फिर मेड इन जैपान की चीजों पर ज्यादा विश्वास करते हैं। लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि वो कौन- कौन सी चीजें हैं जिनका आविश्कार भारत में हुआ है। तो आइये आज हम आपको उन चीजों के बारे में बताएंगे जिनकी खोज भारत में हुई है।

  • बटन – कपड़ों में लगाए जाने वाले बटन का आविश्कार भारत में हुआ था। ये सबसे पहले मोहनजोदड़ो में सजावट के लिए इस्तेमाल किया गया था।
  • शतरंज – कहा जाता है शतरंज बेहद दामागी खेल है, इसको खेलना सबके बस की बात नहीं। इस खेल की खोज भी भारत में ही हुई थी। शतरंज का विकास चतुरंगा नाम के बोर्ड गेम से हुआ था जिसे 6ठवीं शताब्दी में गुप्ता साम्राज्य के दौरान खेला जाता था।
  • सांप-सीढ़ी – सबका फेवरेट टाइमपास गेम सांप-सीढ़ी भी भारत की देन है। इस खेल का आविष्कार भी भारत में हुआ था। बाद में यह भारत से इंग्लैंड और अमेरीका पहुंच गया।
  • प्लास्टिक सर्जरी – भले ही बी-टाउन की एक्ट्रेसेस प्लास्टिक सर्जरी करवाने विदेश जाती हों लेकिन सुंदर बनाने वाली इस सर्जरी का आविष्कार भी भारत में हुआ था।
  • स्याही – स्याही का आविष्कार भारत में हुआ था। हालांकि, कुछ इतिहासकार यह भी कहते हैं कि इसका आविष्कार चीन में हुआ था।
  • फ्लश टॉयलेट – फ्लश टॉयलेट जो अब वेस्टर्न टॉयलेट के नाम से जाने जाते हैं असल में भारत की खोज़ है। कहा जाता है कि सबसे पहले टॉइलट फ्लश का इस्तेमाल सिंधु घाटी सभ्यता में किया गया था।
  • कॉटन के कपड़े – कहा जाता है कि पहले लोग जानवरों की खाल के कपड़े पहना करते थे, जिसके बाद सबसे पहले भारतीयों ने कपास की खेती शुरू करके कपड़े बनाए। यह आविष्कार सिंधु घाटी सभ्यता के दौरान हुआ था।
  • शून्य और चांद पर पानी – शून्य यानि 0 का आविष्कार भारत के गणितज्ञ आर्यभट्ट ने किया था। इसके अलावा चांद पर पानी की खोज भी भारतीय वैज्ञानिक ने ही की थी।

 

 

loading...
शेयर करें