शास्त्रीय संगीत की मशहूर गायिका व ‘ठुमरी की रानी’ गिरिजा देवी का निधन, पीएम मोदी ने जताया शोक

0

वाराणसी। भारतीय शास्त्रीय संगीत का विख्यात सितारा और ‘ठुमरी की रानी’ गिरिजा देवी का कोलकाता के बिड़ला अस्पताल में मंगलवार को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।  वो 88 वर्ष की थीं। उनके निधन से उनके गृह नगर वाराणसी में शोक की लहर है।

गिरिजा देवी अपने शिष्यों और चाहने वालों के बीच अप्पा जी के नाम से जाने जातीं थीं। 8 मई, 1929 को बनारस में जन्मी गिरिजा देवी बनारस घरानों की एक प्रसिद्ध भारतीय शास्त्रीय गायिका रहीं। संगीत की शुरूआती शिक्षा उन्होंने अपने पिता से ही ली थी। बताते हैं कि गायन को सार्वजनिक रूप से अपनाने के लिए उन्हें अपने परिवार का कड़ा विरोध झेलना पड़ा था।

ख्याल गायन से अपनी गायकी की शुरुआत करने वाली गिरिजा ठुमरी, कजरी, चैती, दादरा जैसे उपशास्त्रीय संगीत के लिए मशहूर रहीं। परिवारीजनों के अनुसार मंगलवार को उन्हें सांस लेने में तकलीफ महसूस हुई, जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन रास्ते में ही दिल का दौरा पड़ने की वजह से उनकी मौत हो गई।

पद्मश्री, पद्मभूषण, पद्मविभूषण के अलावा संगीत नाटक अकादमी अवार्ड, अकादमी फेलोशिप, यश भारती समेत कई पुरष्कारों से उन्हें सम्मानित गिरिजा देवी के चले जाने से शास्त्रीय संगीत के साथ कला जगत में शोक की लहर दौड़ गयी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।

पीएम के अलावा सीएम योगी ने भी गिरिजा देवी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि कहा कि ठुमरी के अनमोल सितारे का अस्त हो गया। वहीं बुधवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ गिरिजा देवी का अंतिम संस्कार किया जाएगा। इसके लिए जिला प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है।

loading...
शेयर करें