गूगल ने प्ले स्टोर पर चलाया झाड़ू, 7 लाख एंड्रॉयड एप्स का किया सफाया, ये है वजह

0

बंगलुरु। गूगल ने एंड्रॉयड यूजर्स को वायरस या फोन को नुक्सान पहुंचाने वाली एप्स से बचने के लिए कई सेफगार्ड बनाए हैं। कंपनी के अनुसार- एंड्रॉयड यूजर्स को इस तरह की एप्स से बचाने के लिए साल 2017 में 7 लाख से ज्यादा एप्स को गूगल प्ले स्टोर से हटाया गया है। इतना ही नहीं गूगल ने 1 लाख डेवेलपर्स को भी प्ले स्टोर से हटाया जो सही नहीं थे जो मैलवेयर वाला ऐप और ऐसे अश्लील ऐप अपलोड करते थे जो कि गूगल के पालिसी के खिलाफ है। 2016 के मुकाबले यह आंकड़ां 70 फीसद ज्यादा है।

गूगल ने अपने ब्लॉग में कहा है कि 2017 में ऐप हटाए जाने की संख्या 2016 के मुकाबले 70 फीसदी ज्यादा है। पिछले साल गूगल ने बताया था कि कंपनी गूगल प्ले पर खराब ऐप्स को स्कैन करने के लिए मशीन लर्निंग का इस्ताल करता है। इतना ही नहीं मैलवेयर डिटेक्ट करने के लिए भी कंपनी ने स्ट्रैटिजी बनाई।

ब्लॉग में कहा गया है, हमने ना सिर्फ ऐप हटाए हैं, बल्कि हम उन्हें पहचान कर हटा लेने में भी सक्षम हैं। गौरतलब है कि पिछले साल ही गूगल ने गूगल प्ले प्रोटेक्ट लॉन्च किया है। कंपनी के मुताबिक यह 2 अरब डिवाइस में है और यह ऐप में छिपे मौलवेयर को स्कैन करने का काम करता है।

प्ले प्रोटेक्ट दरअसल एंड्रॉयड में इंस्टॉल्ड ऐप्स को स्कैन करता है। इन सब के बावजूद आम तौर पर एंड्रॉयड प्ले स्टोर और ऐप्स के जरिए स्मार्टफोन्स में सबसे ज्यादा मैलवेयर अटैक होता है। हालांकि iPhone का ऐप स्टोर इन मामलो में सिक्योर है

loading...
शेयर करें