बच्चों की मौत का असली गुनहगार अब पुलिस की गिरफ्त में

0

गोरखपुर। बाबा राघव दास (बीआरडी) मेडिकल कॉलेज के अस्पताल में हुई बच्चों की मौत के मामले में ऑक्सीजन की सप्लाई बंद करने वाली कंपनी के मालिक मनीष भंडारी को गिरफ्तार कर लिया गया। जिसके बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया जहां से 29 सितंबर के लिये जेल भेज दिया।

मिली जानकारी के मुताबिक, बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में आक्सीजन सप्लाई बंद करने के मामले में फरार चल रहे पुष्पा सेल्स प्राइवेट लिमिटेड के मालिक मनीष भंडारी को रविवार को कैंट ने गिरफ्तार करके एसीजेएम-3 यास्मीन अकबर की कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने उसे अभिरक्षा में लेकर 29 सितंबर के लिये जेल भेज दिया। आपको बता दें इस मामले में पहले से सभी आरोपी जेल जा चुके हैं।

मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से हुई 32 बच्चों के मौत के मामले में मनीष के खिलाफ आईपीसी के सेक्शन 409, 308, 120 (बी), 420 वगैरह के तहत एफआईआर दर्ज थी। मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही वो फरार हो गया था। वहीं बच्चों की मौत के मामले में नामजद नौ आरोपियों में से मनीष अंतिम आरोपी है। इससे पहले अन्य आठ को जेल भेजा गया है।

जिसमें एनेस्थीसिया एनेस्थिसिया के हेड डॉक्टर कफील खान, बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ राजीव मिश्रा, प्रिंसिपल की पत्नी डॉ पूर्णिमा शुक्ला, एनेसथिसिया विभाग के हेड डॉ सतीश और मेडिकल कॉलेज के विभिन्न विभागों के चार अन्य कर्मचारी शामिल हैं।

 

 

loading...
शेयर करें